आठ दोस्तो के साथ घूमने आया था तमासिन जलप्रपात, नहाने के दौरान बह गया था सुजीत

महेंद्र कुमार यादव

चतरा: रविवार को कान्हाचट्टी के तमासिन जलप्रपात में बहा सुजीत का शव तीन दिन बाद मिल गया है। शव तमासिन और जशपुर के बीच कजरा कोलिया दहा के किनारे दो पत्थरों के बीच फसा था। इटखोरी प्रखंड के 20 सदस्य टीम ने मंगलवार की सुबह से ही खोज में लगे थे। जिस जगह से सुजीत का शव मिला है, उक्त जगह के आस- पास पिछले दो दिनों से स्थानीय लोगो ने कई बार गया। लेकिन सफलता हाथ नहीं लगी थी। किंतु आज सुबह एसडीपीओ अविनाश कुमार के पहल पर इटखोरी प्रखंड के 20 सदस्य एक्सपर्ट टीम का गठन किया गया। टीम के सदस्यों ने आज सुबह कुछ आवश्यक जुगाड समाग्री के साथ नदी किनारे ढूंढने निकले। जिसके बाद लंबी मसक्त के बाद, दोपहर करीब दो बजे शव बाहर निकाला गया। सुजीत के भाई मुकेश यादव ने शव का पहचान किया है। शव को खटोली के सहारे नदी के गहराई से उपार लाया गया।जिसके बाद राजपुर थाना प्रभारी अनिल कुमार ने शव को लेने घटना पहुंचे और शव को पोस्टमार्ट के लिए चतरा भेज दिया। मालूम हो कि रविवार को तिलैया कोडरमा के आठ दोस्त तमासिन जलप्रपात घूमने आए थे, इसी बीच सुजीत नहाने के दौरान गहरा पानी में चला गया था, जिसके बाद से लापता था।एसडीपीओ अविनाश कुमार के पहल पर नदी से शव को बाहर निकाला गया। एसडीपीओ ने इटखोरी के स्कस्पर्ट टीम को इस काम में लगाए। जिससे टीम के सदस्यों ने निकालने में सफल रहे।