राजीव गांधी शासन की उपलब्धियों को कभी भुलाया नहीं जा सकता: सोनी

गोड्डा: देश के सबसे कम उम्र के प्रधानमंत्री रहे राजीव गांधी ने महज 5 वर्ष के शासनकाल में ढेरों उल्लेखनीय कार्य किए। उनके कार्यों को भारत सदैव याद रखेगा। यह बात महिला कांग्रेस की जिलाध्यक्ष सोनी झा ने स्वर्गीय गांधी की पुण्यतिथि पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान कहीं।
बसंतराय प्रखंड के पकरिया गांव में आयोजित कार्यक्रम में श्रीमती झा ने विस्तार पूर्वक स्वर्गीय गांधी के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि उन्होंने भारत के आधुनिकीकरण की जो नींव रखी, वह मील का पत्थर सिद्ध हुआ है। भारत में दूरसंचार एवं कंप्यूटर क्रांति के जनक स्वर्गीय गांधी ने शिक्षा नीति में बदलाव, पंचायती राज व्यवस्था को सुदृढ़ करने, दल बदल कानून, मताधिकार की उम्र सीमा घटाकर 18 वर्ष करने, देश के सभी जिलों में जवाहर नवोदय विद्यालय की स्थापना करते हुए जो छाप छोड़ी, वह अमिट है।
श्रीमती झा ने कहा कि स्वर्गीय गांधी भारतीय राजनीति के आकाश पर एक धूम्रकेतु की तरह अल्प समय के लिए उभरे थे। लेकिन अल्प समय में ही उनकी आभा देश विदेश तक गहराई से फैल गई। भारतीय राजनीति में राजीव गांधी लगभग 11 वर्ष तक ही सक्रिय रहे। अपने छोटे भाई संजय गांधी की विमान दुर्घटना में मृत्यु के बाद पायलट की नौकरी छोड़ कर सन 1980 में राजनीति में कदम रखने वाले राजीव गांधी ‘मिस्टर क्लीन’ के नाम से विख्यात हुए। बीसवीं सदी के उत्तरार्द्ध में ही 21वीं सदी के विकसित भारत का ताना-बाना रचने वाले राजीव गांधी ने अपने 5 वर्ष के प्रधानमंत्रित्व काल में भारत को एक नई ऊंचाई दी।
इस मौके पर अर्चना झा, सुलोचना देवी, मीरा देवी, रत्ना देवी, विनीता देवी, शोभा देवी, सुलेखा देवी, वर्षा झा, सुनीता देवी आदि मौजूद थीं। मौके पर ग्रामीणों के बीच मास्क, सैनिटाइजर, साबुन आदि वितरित किया गया। साथ ही लोगों से कोरोना का टीका लगवाने की अपील की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *