गोवा में बिजली करंट से मरे गोड्डा के मजदूर का शव गांव पहुंचने पर माहौल हुआ गमगीन

– परिजनों के करुण क्रंदन से गांव वाले की आंखें हो गई नम
– स्थानीय विधायक दीपिका पांडेय सिंह की पहल पर हजारों किलोमीटर दूर से शव लेकर पहुंचा एंबुलेंस
जावेद अख्तर की रिपोर्ट
हनवारा : महागामा प्रखंड के कुसमहरा गांव निवासी मनीजर रविदास का शव लेकर रविवार को एंबुलेंस कि गांव पहुंचने पर माहौल काफी गमगीन हो गया। परिजनों के करुण क्रंदन से गांव वासियों की आंखें नम हो गई।
मालूम हो कि शुक्रवार को गोवा में एक निर्माणाधीन मकान में मजदूरी का काम करने के दौरान मनीजर रविदास की मौत बिजली करंट लगने से हो गई थी। परिजनों ने इतनी दूर से शव लाने में असमर्थता जाहिर करते हुए स्थानीय विधायक दीपिका पांडेय सिंह से शव घर पहुंचवाने की गुहार लगाई थी। विधायक श्रीमती पांडेय ने अविलंब पहल करते हुए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन एवं राज्य के श्रम मंत्री सत्यानंद भोक्ता को ट्वीट करते हुए मृतक मजदूर का शव घर पहुंचवाने का अनुरोध किया था। विधायक की ट्वीट पर झारखंड सरकार ने तत्काल संज्ञान लेते हुए एंबुलेंस से शव गोवा से मृतक के घर पहुंचाने की व्यवस्था की।
इधर मृतक मनीजर रविदास की मौत से परिवार पर विपत्ति का पहाड़ टूट पड़ा है। मृतक मेहनत मजदूरी करके अपने परिवार का भरण पोषण करता था। वह अपने पीछे पत्नी एवं 5 छोटे-छोटे बच्चों को छोड़ गया है। मृतक कुछ माह पूर्व ही गोवा कमाने गया था। विधायक दीपिका पांडे सिंह ने मृतक के परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है।

झारखंड से हज़ारों किलोमीटर दूर गोवा में हमारे एक मज़दूर भाई की हादसे में जान चली गई थी, परिवार परेशान था। मेरे बस एक अनुरोध पर माननीय मुख्यमंत्री @hemantsorenjmm मंत्री @satyanandbhokta जी ने पहल की और आज उनका शव उनके घर तक आ गया है। आपका आभार 🙏
दीपिका पांडे सिंह, विधायक, महागामा