कोनवाई प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का हाल बेहाल

दर्जनों लोगों की अनेकों बीमारियों से गई जान

हफ्ता दो हफ्ता के अंदर दर्जनों की हुई मौत, गिरेंद्र सिंह उम्र 35 ,नारेंद्र सिंह उम्र 28, सुनील सिंह 35 , रामजीत सिंह उम्र 60, चतुरि सिंह 65, तेतरी कुंवर,70

चुनाव में सिर्फ नजर आते हैं समाजसेवियों इलाज के बिना काल के मुंह में समा रहे गरीब, स्वास्थ्य विभाग का नहीं लिया किन्हीं ने जायजा।

जॉइनिंग समय से ही डॉ राजीव शाह नहीं दे रहे हैं अपना योगदान रजिस्टर पर होती है सिर्फ काम

पांकी से लौकेश कुमार सिंह की रिपोर्ट

पांकी: पलामू एक तरफ देश कोरोना महामारी से जूझ रहा है तो वही इसका प्रकोप भयावह रूप ले चुका है जो की कोनवाई में भी कोरोना से कितने को गई जान तो वहीं साधारण बीमारी जैसे, मलेरिया टाइफाइड तो वहीं साधारण बुखार से जान गवानी पड़ी। लोगों की संख्या दिन पर दिन दर्जनों बढ़ती जा रही है साथ ही तरह-तरह के बीमारियों का उत्पन्न हो रहा है जो कि गरीब तबके के लोग इलाज के बिना काल के मुंह में समा जा रहे हैं। आपको बताते चलें कि पांकी प्रखंड के कोनवाई प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र आमजन के लिए बेमतलब साबित हो रहा है। यहां डॉक्टर के नहीं रहने से आने वाले मरीज बैरंग लौट जाते हैं। यहां पे डॉक्टर राजीव साह जॉइनिंग तो लिए पर अपना आज तक योगदान नहीं दिये।

इधर पांकी प्रखंड स्वास्थ्य विभाग प्रभारी महेंद्र प्रसाद से पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि जॉइनिंग समय से ही राजीव साह नहीं दे रहे हैं योगदान सीएस को आवेदन देकर इसकी सूचना दी गई है।

कहीं ना कहीं स्वास्थ्य विभाग में भ्रष्टाचार में लिप्त नजर आ रहे हैं पदाधिकारी जो कि सिर्फ रजिस्टर पर ही मेंटेन कर हो रही है काम, ना तो एएनएम मैडम मिली ना ही, सी,एच ओ मैडम मिली ना ही एमपीडब्ल्यू, सिर्फ दरवाजा खुला कर छोड़ दिया जाता है। स्वास्थ्य विभाग को समय से पहले ही बंद कर दिया जाता है। जिससे इलाज के लिए आए लोग वापस चले जाते हैं।

ए एन एम के जगह आते हैं उनके पति

पांकी प्रखंड के कोनवाई प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में एएनएम मंजू कुमारी सी एच ओ अमिता सुप्रिया लाकड़ा एमपीडब्ल्यू उपेंद्र कुमार कार्यरत हैं मगर लोग बताते हैं कि मंजू कुमारी अस्पताल में नहीं आती है एएनएम के प्रति कभी-कभार आते हैं और अस्पताल खोलने की खानापूर्ति करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *