आदित्यपुर नगर निगम क्षेत्र अंतर्गत रोड मरम्मती कार्य का उपायुक्त ने किया निरीक्षण

सरायकेला। उपायुक्त अरवा राजकमल ने बुधवार को जिले के आदित्यपुर नगर निगम क्षेत्र अंतर्गत रोड रेस्टोरेशन (रोड मरम्मती) कार्य का निरीक्षण किया। निरीक्षण के क्रम उपायुक्त ने स्टेशन रोड, हरी ओम नगर रोड, आशियाना रोड एवं अन्य ऐसे रोड जहां लोगों का आवागमन अधिक होता है उनका निरिक्षण किया। निरीक्षण के क्रम उन्होंने सम्बंधित कार्यरत कंपनी के प्रतिनिधी को कार्य प्रगति में तेजी लाते हुए रेस्टोरेंसन कार्य को जल्द से जल्द पूर्ण करने के निर्देश दिए।
उपायुक्त ने पत्रकारों से वार्ता के क्रम कहा – शिवरेज एवं पेयजल पाइप लाइन योजना के कारण रोड पर गढ्ढा किया गया है। जिस कारण नगर वासियो को काफ़ी असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। शिवरेज एवं पाइपलाइन कार्य भी नगरवासियो के समस्याओ के समाधान के लिए किया जा रहा है। प्रशासन का उदेश्य है कि जिस क्षेत्र में कार्य किया जा रहा है वहां अधिक दिन तक रोड पर गढ्ढा ना रहे। ससमय कार्य पूर्ण कर लिया जाए ताकि नगरवासियों को अधिक असुविधा ना हो।
उन्होंने कहा आदित्यपुर नगर निगम क्षेत्र में सीवरेज एवं पाइपलाइन कार्य के कारण रोड पर गड्ढे किए गए थे जिसके ससमय पूर्ण ना होने से सुविधा प्राप्त होने की शिकायत विभिन्न माध्यम जैसे प्रेस मीडिया/इलेक्ट्रॉनिक मीडिया एवं के माध्यम से प्राप्त हो रहे थे। इस संबंध में पूर्व में माननीय मंत्री -सह- सरायकेला विधायक चंपई सोरेन की उपस्थिति में बैठक आयोजित की गई थी।पूर्व के प्राप्त शिकायत के आलोक में कार्य में सुधार आया है लेकिन प्रशासन का मुख्य उद्देश्य ऐसे सड़क जहां अधिक संख्या में लोगों का आवागमन हो रहा हो वहां रोड मरामत्ती कार्य जल्द से जल्द पूर्ण कराना है। उपायुक्त ने कहा अभी 09 से 12 कक्षा तक के छात्र-छात्राएं भी विद्यालय जा रहे हैं इसी को ध्यान में रखते हुए ऐसे रोड जहां लोगों के अधिक आवागमन हो कि रोड रिजर्वेशन कार्य का निरीक्षण कर कार्य में प्रगति लाते हुए जल्द से जल्द पूर्ण करने के निर्देश दिए गए हैं। जिससे किसी प्रकार की अप्रिय घटना बच्चे, बुजुर्ग या किसी भी व्यक्ति के साथ ना हो।
निरीक्षण क्रम में उपायुक्त के साथ अपर उपायुक्त सुबोध कुमार, अपर नगर आयुक्त गिरजा शंकर प्रसाद, अनुमंडल पदाधिकारी सरायकेला राम कृष्ण कुमार, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी सुनील कुमार, नगर निगम क्षेत्र अंतर्गत कार्यरत सभी कंपनी के प्रतिनिधि एवं अन्य उपस्थित रहे।