हिंडाल्को द्वारा जनहित में करायी गई 10 साल का कार्यों का डीसी से ब्यौरा मांगा जाएगा : झानद

गुमला: झारखंड नवनिर्माण दल व बॉक्साइट माइन्स रैयत मजदूर समिति , बिशुनपुर – घाघरा द्वारा हिंडाल्को कंपनी बॉक्साइट माइन्स क्षेत्र में सीएसआर के तहत बीते 10 सालों में जनहित में क्या – क्या काम की है , 10 सालों में किए गए कार्यों का ब्यौरा कंपनी से जिला प्रशासन के माध्यम से जानकारी मांगा जाएगा । समिति के निर्णय अनुसार हिंडाल्को कंपनी द्वारा सेरेंगदाग , जालिम , विमरला , गुरदरी , अमतीपानी , कुजाम माइंस क्षेत्र में बीते 40 वर्षों से भी ज्यादा दिनों से बॉक्साइट का खनन की जा रही है । वहीं जिनके जमीन से बेशकीमती बॉक्साइट खोदकर निकाली जा रही है , उन्हें कंपनी अब तक शुद्ध पीने का पानी भी उपलब्ध नहीं करा पायी है । जंगल – पहाड़ में रहने वाले गरीब आदिवासी आज भी झरने का दूषित पानी पीने को मजबूर हैं । इसका मतलब है हिंडालको कंपनी द्वारा सीएसआर का पालन सिर्फ कागज पर हो रहा है । इस गोरखधंधे से संबंधित जानकारी जिला प्रशासन गुमला से 30 सितंबर 2021 को पत्र प्रेषित कर मांगी जाएगी ।
विदित हो कि 21 सितंबर 2021 से हिंडालको कंपनी द्वारा माइनिंग एक्ट व सीएसआर का उल्लंघन तथा अवैध बॉक्साइट उत्पादन के खिलाफ बॉक्साइट माइन्स रैयत मजदूर समिति के द्वारा भंडाफोड़ अभियान चलायी जा रही है , जिसके तहत माइंस क्षेत्रों में कंपनी का लूट नीति का भंडाफोड़ तथा धारदार आंदोलन के लिए यह जानकारी मांगने का निर्णय लिया गया है ।