जिला योजना पदाधिकारी ने पुराना समाहरणालय परिसर में वृक्षारोपण किया

धरती पर जीवन के लिए पेड़-पौधों का होना अति आवश्यक

पाकुड़: पुराना समाहरणालय परिसर में जिला योजना पदाधिकारी चंद्रभूषण तिवारी ने पौधरोपण किया। इस अवसर पर जिला योजना पदाधिकारी ने कहा कि धरती पर जीवन के लिए पेड़-पौधों का होना अति आवश्यक है। पेड़-पौधा की धड़ल्ले से कटाई के कारण कई प्रकार की परेशानियों का सामना मनुष्य को करना पड़ सकता है। उन्होंने लोगाें से अपील की कि पेड़-पौधों को नहीं काटे। जंगल को उजड़ने से बचाए। जंगल नहीं होंगे तो इंसान भी नहीं रह पाएगा। इसलिए जंगलों को हर हाल में सुरक्षित रखने की जरूरत है। जंगल न सिर्फ इंसानों के लिए जरूरी है बल्कि पशु पक्षियों के लिए भी जंगल का होना अति आवश्यक है।

उन्होंने कहा कि पौधा को सिर्फ लगाकर अपनी जिम्मेवारी पूरा नहीं करें। बल्कि उसकी अच्छी तरीके से देखभाल भी करना जरूरी है। वर्तमान परिवेश में काफी भयावह स्थिति उत्पन्न हो गई है। पेड़-पौधा से लोगों काे आर्थिक लाभ भी हो सकता है।

उन्होंने आनेवाली पीढ़ी के लिए पेड़-पौधा लगाने व उसे सुरक्षित रखने की अपील की। साथ ही पाकुड़ को हरा-भरा रखने व स्वच्छ रखने की आह्वान लोगों से किया है। इस दौरान बरगद का पौधा लगाया गया।

इस अवसर पर युआईडी डीपीओ रितेश कुमार, गोपाल प्रसाद, शंकर मुर्मू, जिला विकास शाखा के प्रधान सहायक समेत अन्य उपस्थित थे