मेहरमा प्रशासन की उदासीनता से उड़ रही लॉक डाउन की धज्जी

– बाजार में थम नहीं रही भीड़, बिना ई पास का धड़ल्ले से हो रहा ऑटो का परिचालन
विजय कुमार की रिपोर्ट

मेहरमा : झारखंड सरकार द्वारा कोरोना संक्रमण के चेन को तोड़ने के लॉकडाउन लागू किया गया है। शासन द्वारा लॉकडाउन को सख्ती से लागू करवाने के लिए प्रशासन को आवश्यक दिशा निर्देश दिया गया है। गोड्डा जिला प्रशासन लोगों से प्रोटोकॉल का पालन करवाने के लिए लगातार अभियान चला रही है। लेकिन सीमावर्ती क्षेत्र मेहरमा में प्रखंड एवं पुलिस प्रशासन लॉकडाउन का पालन करवाने के प्रति उदासीन बना हुआ है। परिणाम स्वरूप जहां बाजार में भीड़ सामान्य दिनों की तरह ही दृष्टिगोचर हो रही है, वहीं बगैर ई पास के ऑटो का परिचालन धड़ल्ले से जारी है।
हालात को देखकर ऐसा लगता है कि मेहरमा एवं ठाकुरगंगटी प्रखंड झारखंड से बाहर है! इसीलिए इस क्षेत्र में लॉकडाउन लागू नहीं है! यह स्थिति कब है, जब मेहरमा एवं ठाकुरगंगटी प्रखंड क्षेत्र के एक दर्जन से अधिक लोग कोरोना से संक्रमित होकर विभिन्न अस्पतालों में इलाजरत हैं। डीसी एवं एसपी समेत पूरा जिला प्रशासन लॉक डाउन का सख्ती से अनुपालन करवाने के लिए सड़क पर है, लेकिन मेहरमा प्रखंड प्रशासन त्रासदी की इस घड़ी में भी चैन की नींद सो रहा है।
प्रशासन की उदासीनता और लापरवाही के कारण मेहरमा प्रखंड के बाराहाट बाजार, पिरोजपुर चौक, मेहरमा ऑटो स्टैंड के पास लोग प्रोटोकॉल का पालन नहीं करते दिख रहे हैं। प्रशासन के द्वारा जिस दुकान को बंद रखने का आदेश दिया गया है, उस तरह की दुकानें भी प्रशासन की आंख में धूल झोंक कर संचालित किया जा रहा है। जिससे कि स्थानीय प्रशासन पर कई तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं। चर्चा का विषय बना हुआ है कि पदाधिकारी के द्वारा बड़े-बड़े दुकानों को टारगेट किया जा रहा है और उस दुकानदार की मनमानी को मोटा नजराना की आड़ में माफ कर दिया जाता है। मेहरम थाना से महज 200 मीटर की दूरी यानी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के नजदीक स्थित ऑटो स्टैंड पर खुलेआम बिना ई पास के प्रतिदिन तीन दर्जन से अधिक ऑटो द्वारा प्रशासन के सामने से ओवरलोड सवारी बैठा कर परिचालन किया जा रहा है। जबकि गाइड लाइन के अनुसार मास्क और बिना ई पास एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किए बिना कोई भी वाहन परिचालन नहीं करना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *