मंत्री ने प्रशासन आपके द्वार कार्यक्रम में 4 महिलाओं की गोद भराई तथा बच्चों का खीर खिलाकर अन्नप्राशन किया

गढ़वा से नित्यानंद दुबे की रिपोर्ट
गढ़वा : सोमवार को गढ़वा जिले के गढ़वा प्रखंड अंतर्गत रंका बौलिया पंचायत में “प्रशासन आपके द्वार” कार्यक्रम का आयोजन मंत्री, पेयजल एवं स्वच्छता विभाग झारखंड सरकार, मिथिलेश कुमार ठाकुर की अध्यक्षता में की गई जिसमें जिला स्तर के सभी पदाधिकारी एवं कर्मी उपस्थित थें।
कार्यक्रम का प्रारम्भ मंत्री , उपायुक्त गढ़वा, राजेश कुमार पाठक, पुलिस अधीक्षक अंजनी कुमार झा, उप विकास आयुक्त, सत्येंद्र नारायण उपाध्याय एवं अन्य ने सामूहिक रुप से दीप प्रज्वलित कर किया।
उक्त कार्यक्रम में आमजनो के समस्या के निदान के लिए विभागवार काउंटर बनाए गए थें, जहां योग्य लाभुक संबंधित विभाग से लाभ लेने हेतु अपना आवेदन पत्र समर्पित कर बदले में अपने आवेदन की पावती रसिद प्राप्त कर सकें। विदित हो कि ऐसे कार्यक्रमों के जरिये आमजनों को सरल एवं त्वरित गति से लाभ पहुंचाने का कार्य किया जा रहा है। प्रशासन आपके द्वार के तहत रंका बौलिया पंचायत में पूर्वाह्न 11:30 बजे से कार्यक्रम आयोजित किये गए। इसके तहत सामाजिक सुरक्षा, वृद्धावस्था पेंशन, विधवा पेंशन एवम दिव्यांगता पेंशन, खाद्य आपूर्ति, प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण)/ बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना/इंदिरा आवास योजना, कृषि पशुपालन एवं सहकारिता, मनरेगा, कल्याण, समाज कल्याण, ग्रामीण विकास, पेयजल एवं स्वच्छता राजस्व, शिक्षा, कृषि, 15वें वित्त आयोग, चिकित्सा, श्रम, नियोजन एवम प्रशिक्षण, जेएसएलपीएस, खाद्य आपूर्ति, बाल विकास परियोजना, प्रखंड संसाधन केंद्र, गव्य विकास आदि अन्य विभाग से संबंधित आवेदन पत्र लिए गए। इस कार्यक्रम में समाजिक सुरक्षा कोषांग के तहत लगाए गए स्टॉल के माध्यम से विभिन्न पेंशन योजनाओं के बारे में आमजनों को बताया जा रहा था, जिसके फलस्वरूप वृद्धावस्था पेंशन, विधवा पेंशन, दिव्यांगता एवं अन्य पेंशन से संबंधित कुल 30 मामले प्राप्त हुए। सभी प्राप्त आवेदन पत्रों को जांच उपरांत योग्य लाभुकों को स्वीकृति प्रदान कर दी जाएगी। खाद्य आपूर्ति विभाग के तहत राशन कार्ड में नाम जुड़वाने एवं नए राशन कार्ड बनवाने हेतु मामले से संबंधित आवेदन पत्र प्राप्त किए गए तथा सक्षम लोगों को राशन कार्ड सरेंडर करने हेतु भी जागरूक किया गया ताकि इसका लाभ अन्य योग के लाभुकों को मिल सके। प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण)/बाबा साहब भीमराव अंबेडकर आवास योजना/इंदिरा आवास योजना के तहत जिन योग्य लाभुकों को अब तक आवास का लाभ नहीं मिल सका है उनसे कुल 80 मामले प्राप्त हुए, जिन्हें जांचोपरांत स्वीकृति दी जाएगी। इसके अतिरिक्त मनरेगा से नए योजनाओं की स्वीकृति हेतु जॉब कार्ड के 05 आवेदन, पेयजल एवं स्वच्छता संबंधी 27 मामले पेंशन के 22 मामले एवं आवास के 27 मामले प्राप्त हुए। उक्त कार्यक्रम में चिकित्सा विभाग के द्वारा भी स्टाल लगाए गए थे, जिसके माध्यम से लोगों को कोविड-19 का टीका लेने व कोविड-19 का जांच कराने हेतु जागरूक किया गया। मौके पर स्वास्थ्य जांच हेतु भी कुछ मामले प्राप्त हुए, जिसमे सभी आवेदनकर्ताओं की स्वास्थ्य की जांच तत्काल मौके पर ही उपस्थित चिकित्सकों द्वारा की गई एवम आवश्यकता अनुरूप दवाइयां वितरित की गई। covid-19 जांच के 20 से 25 मामले प्राप्त हुए सभी का रिपोर्ट नेगेटिव प्राप्त हुआ। 15वें वित्त से संबंधित मामले भी प्राप्त हुए। राजस्व विभाग के द्वारा लगे स्टॉल के माध्यम से अंचल कार्यालय के अधीन आने वाले विभिन्न मामले यथा- अतिक्रमण मुक्त करने, एवं सड़क निर्माण के क्रम में जमीन को रास्ते में आ जाने के कारण मुआवजा, आय, जाति निवास बनवाने आदि से संबंधित आवेदन प्राप्त हुए। पशुपालन विभाग से लगे स्टाल के माध्यम से पशुओं में होने वाले विभिन्न प्रकार के रोगों एवं उसके निदान के बारे में बताया गया तथा इससे संबंधित पोस्टर पंपलेट का भी वितरण किया गया। पशुओं को रोग से इलाज हेतु संबंधित दवा वितरण किया गया। शिक्षा विभाग के तहत लगाये गए स्टॉल प्रखंड संसाधन केंद्र के द्वारा सरकार द्वारा चलाए जा रहे जन कल्याणकारी योजना के तहत मुफ्त शिक्षा, मुफ्त भोजन, मुफ्त ड्रेस एवं मुफ्त पुस्तकों के बारे में बता कर लोगों को पढ़ाई के प्रति जागरूक करने का कार्य किया गया। कृषि पशुपालन एवं सहकारिता विभाग के द्वारा स्थापित किए गए स्टाल के माध्यम से विभाग द्वारा चलाए जा रहे विभिन्न योजनाओं के बारे में पोस्टर पंपलेट वितरित कर जानकारी दी गई एवं उक्त से संबंधित समस्याओं के समाधान हेतु समस्याएं भी पंजीकृत की गई जिनका समाधान जांच उपरांत किया जाएगा। जेएसएलपीएस के स्टाल के माध्यम से लोगों को जैविक विधि से कृषि करने एवं अधिकाधिक फसलों का उत्पादन करने की विधि बताई गई जबकि प्लास मार्ट के माध्यम से सखी मंडल की दीदियों द्वारा अपने हाथों से बनाए गए खाद्य सामग्री यथा आटा दाल सत्तू अचार तेल आदि के बारे में बताया गया। इसके तहत लोगों को आजीविका चलाने एवं अपना रोजगार बढ़ाने के विधि बताई गई। समाज कल्याण बाल विकास परियोजना के तहत लगाए गए स्टाल के माध्यम से महिला पर्यवेक्षिकाओं तबसुम राणा, शिमला कुमारी, प्रतिमा कुमारी एवं सेविका सहायिका के द्वारा पोषाहार के बारे में जानकारी दी गई। उन्होंने बताया कि भोजन तो यूं सभी करते हैं परंतु पोषाहार लेना अति आवश्यक है। विशेषकर उन्होंने गर्भवती महिलाओं को पौष्टिक आहार लेने पर बल दिया। इसके तहत उन्होंने हरे साग सब्जी एवं तिरंगा भोजन जिसके तहत पोस्टिक आहार सम्मिलित होते हैं, कि विस्तृत जानकारी दी गई। इस अवसर पर 4 गर्भवती महिलाओं का मंत्री द्वारा गोद भराई की रस्म पूरा किया गया एवं 3 बच्चो का अन्नप्राशन तथा पांच सुकन्या के लाभार्थियों एवं दो कन्यादान के लाभुकों को सर्टिफिकेट भी दिया गया। श्रम नियोजन एवं प्रशिक्षण विभाग का भी स्टॉल लगाया गया, जिसके माध्यम से इसके तहत आने वाले मामलों को पंजीकृत कर उनका निष्पादन करने का कार्य किया गया। कार्यक्रम के दौरान माननीय मंत्री द्वारा बताया गया कि राज्य सरकार आम जनों के समस्याओं के निदान हेतु परस्पर प्रयासरत है। कोविड-19 के दौरान सरकार द्वारा किए गए कार्यों के बारे में उन्होंने बताया। जिले में व्याप्त समस्याओं के समाधान के लिए लगातार कर्मियों एवं पदाधिकारियों द्वारा अथक प्रयास किए जा रहे हैं। कार्यक्रम के दौरान मंत्री द्वारा स्वयं सभी स्टॉलों में चल रहे कार्यों का निरीक्षण किया गया तथा प्राप्त किए गए आवेदनों के निष्पादन हेतु निर्देशित किया गया। ऐसे कार्यक्रमों के जरिये लोगों को अपनी समस्या अधिकारियों के समक्ष रखने में सहूलियत मिल रही है तथा मामले निष्पादित किये जा रहे हैं। उक्त कार्यक्रम में जिला एवं प्रखंड स्तर के कर्मी तथा काफी संख्या में आम जनता उपस्थित थें।