सेना के शहीद जवान मनोहर कुंकल का पार्थिव शरीर पहुंचा पैतृक गांव

राजकीय सम्मान के साथ दी गई अंतिम विदाई

शहीद के अंतिम दर्शन के लिए उमरी ग्रामीणों की भीड़, गांव और परिवार के लोगों का रो-रोकर हुआ बुरा हाल
रामगोपाल जेना
चाईबासा : पश्चिम सिंहभूम जिले के मंझारी थाना अंतर्गत टांगर पोखरिया गांव के रहने वाले भारतीय सेना के जवान मनोहर कुंकल सोमवार को अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा ड्यूटी के दौरान दिल का दौरा पड़ने से शहीद हो गए थे। वह 15 महार रेजिमेंट कार्यरत थे। शहीद जवान का पार्थिव शरीर वायुसेना के जहाज से गुरूवार को रांची लाया गया। पार्थिव शरीर को आज रांची से सड़क मार्ग के द्वारा टांगर पोखरिया गांव लाया गया, जहां शहीद जवान मनोहर का अंतिम संस्कार किया गया। सहादत की खबर पहुंचने के बाद से ही गांव में मातम पसरा हुआ था। जैसे ही शहीद जवान का पार्थिव शरीर गांव में पहुंचा, अंतिम दर्शन के लिए लोगों की भीड़ जमा हो गई। सेना के जवानों, जिला प्रशासन और पुलिस के पदाधिकारियों और परिवार के लोगों ने शहीद मनोहर कुंकल को श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके बाद हो समाज की परंपरा के अनुसार अंतिम संस्कार की प्रक्रिया शुरू की गई। शहीद मनोहर कुंकल की छोटी पत्नी सुनीता कुंकल, बड़ी पत्नी और दोनों बच्चों ने भी पिता के पार्थिव शरीर को सलामी दी और श्रद्धांजलि अर्पित की। शव पहुंचने से लेकर अंतिम संस्कार तक पूरे गांव का माहौल गमगीन बना रहा।