मनरेगा का उद्देश्य गांव में रोजगार सृजन कर ग्रामीणों को रोजगार दिलाना: बीडीओ

रजरप्पा(रामगढ़): चितरपुर प्रखंड के सभी पंचायतों में गुरुवार को महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के अन्तर्गत ग्रामीणों की आस, मनरेगा से विकास कार्यक्रम के तहत रोजगार महादिवस का आयोजन किया गया। इसी क्रम में मायल के केंदुआ टाड़ पंचायत भवन में भी रोजगार महादिवस का आयोजन किया गया। जिसमे मुख्य रूप से उपस्थित चितरपुर बीडीओ उदय कुमार ने कहा कि मनरेगा का उद्देश्य गांव में रोजगार सृजन कर ग्रामीणों को रोजगार दिलाना है। आरंभ किए गए ग्रामीणों की आस, मनरेगा से विकास कार्यक्रम से अधिकाधिक लोगों को जोड़ने की जरूरत है। साथ ही मनरेगा में ग्रामीणों को रोजगार से जोड़ेने की जरूरत है, ताकि वे अपने परिवार के लिये आजीविका कमा सकें। आगे उन्होंने मनरेगा के तहत संचालित योजनाओं को पूरी गुणवत्ता एवं पारदर्शिता के साथ धरातल पर उतारने की बात कही। मौके पर आजसू पार्टी के प्रखंड सचिव दशरथ महतो, मुखिया सुशीला देवी, रोजगार सेवक रूपेश कुमार, पंचायत सेवक मायल पंचायत अध्यक्ष संजय कुमार, सचिव संतोष कुमार सहित कई ग्रामीण मौजूद थे।