दलित परिवार के लोगों ने सीओ से भेटकर लगाया न्याय की गुहार

बरही से बिपिन बिहारी पाण्डेय

बरही: बरही प्रखंड अंतर्गत करसो पंचायत के वार्ड नंबर-4 के धोबनीगढा के दलित परिवार के लोगों ने सोमवार को सीओ अरविंद देवाशीष टोप्पो से भेंट किया। वहीं दिए गए आवेदन के माध्यम से धोबनीगढा टोला के ग्रामीणों ने कहा कि धोबनीगढा की आबादी लगभग 200 से अधिक है। हम लोग इस गांव में लगभग 100 वर्षों से रह रहे हैं। वहीं गांव के ही सरजू गोप पर उक्त टोला के ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि हमारे जमीन को कब्जा कर लिया है एवं हमारे मकान के सामने तार का घेरा कर दिया गया है। जिससे हम लोगों को मकान से बाहर निकलने में असुविधा पैदा हो रही है। हम लोगों को घर मकान खाली करने के लिए विवश किया जा रहा है। मौके पर अखिल भारतीय भुइयां समाज कल्याण समिति के प्रखंड अध्यक्ष छोटी राम भुइयां, बरही पश्चिमी जिला परिषद सदस्य संतोष रविदास, बीरेंद्र भुइँया, शिक्षक संतोष कुमार ने भी ग्रामीणों की समस्याओं से सीओ को अवगत करवाया। मौके पर सीओ अरविंद देवाशीष टोप्पो ने कहा कि सभी कागजात की जांच पड़ताल की जा रही है, भरोसा रखें उचित करवाई की जाएगी। मौके पर ग्रामीणों में बालेश्वर भुईया, अरुण कुमार, आसीन भुइँया, राजू कुमार, मोहन कुमार, सहोदरी देवी, मोसोमात बसमरिया, बसंती देवी, सुनीता देवी, रेखा देवी आदि उक्त टोला के ग्रामीण मौजूद थे। इधर सरयू गोप ने आरोप को बेबुनियाद बताते हुए कहा कि वर्ष 2009 में हमने केवाल निवासी सुरेंद्र सिंह से 5 एकड़ 68 डिसमिल जमीन खरीदी है। जिसके बाद हमने 2014 में अपना घर बना कर पूरा परिवार के साथ रह रहे हैं। अपने पूरे जमीन पर तार से बाउंड्री भी किया है। जमीन नापी के लिए अंचल कार्यालय में आवेदन भी दिया है। वहीं उन्होंने कहा कि जो भी आरोप हमारे ऊपर लगाए जा रहे हैं, वह पूरी तरह से बेबुनियाद है।