झगड़ा शांत कराने गई पुलिस ने कर दिया लाठीचार्ज, ग्रामीण हुए आक्रोशित

– ग्रामीणों के आक्रोश से बचने के लिए पुलिस ने दो राउंड किया हवाई फायरिंग
विजय कुमार की रिपोर्ट
मेहरमा : थाना क्षेत्र के सुड़नी गांव में शुक्रवार को डायन बिसाही के विवाद को लेकर दो पक्ष आपस में भिड़ गए। बात बढ़ते बढ़ते दोनों पक्ष लाठी-डंडे से मारपीट पर उतारू हो गए। इसकी सूचना मेहरमा पुलिस को दी गई। सूचना पाकर मौके पर पहुंचे मेहरमा थाना के एएसआई विकाश सिन्धु त्रिपाठी ने माहौल को शांत कराने के बदले आनन-फानन में लाठी चार्ज शुरू कर दिया।
इससे आक्रोशित लोगों ने पुलिस पर हमला कर दिया। एएसआई की वर्दी भी फाड़ देने की बात सामने आई है। जिसके बाद पुलिस ने अपनी आत्मरक्षा को लेकर दो राउंड हवाई फायरिंग किया, तब भीड़ तितर बितर हुई।
इधर सुड़नी गांव निवासी बासकी दास की पत्नी देवकी देवी ने बताया कि मेहरमा थाना में बीते 15 दिन में चार बार आवेदन दे चुकी है। उन्हें डायन होने का आरोप लगाकर संजय रविदास प्रताड़ित कर रहा है। लेकिन मेहरमा पुलिस की लापरवाही के कारण किसी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं की गई।
वहीं संजय रविदास थाना में आवेदन देने वाली महिला को कह रहा था कि तुमने ही उसके भाई का जान ली है। मालूम हो कि संजय रविदास के भाई की मौत लगभग डेढ़ माह पूर्व हुई है।
इस बीच सुडनी गांव में घटित घटना की सूचना पर महागामा के एसडीपीओ शिव शंकर तिवारी सुड़नी गांव पहुचे और घटना की पूरी जानकारी ली। इस घटना की पूरी जानकारी लेने के बाद उन्होंने मीडिया को बताया कि एएसआई विकास सिंधु त्रिपाठी के द्वारा किया गया लाठी चार्ज सारासर गलत है। जब माहौल बिगड़ा था तो समझा-बुझा कर शांत करा देना चाहिए था।

अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी शिव शंकर तिवारी ने बताया कि मामले को लेकर सभी बिंदुओं पर जांच की जा रही है। महिला के द्वारा आवेदन देने के बावजूद प्राथमिकी दर्ज क्यों नहीं हुई, इसकी भी जांच की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *