सादगी व एहतराम के साथ निकला जुलूस मोहम्मदी, नियाज फातेहा का किया गया आयोजन

पाकुड़ : हजरत मोहम्मद सल्लाहे वालहे वस्लम के व्लादत(जन्मदिन) पर मुस्लिम अकीदतमंदों ने सादगी व एहतराम के साथ कोविड के गाइड लाइन पर अमल करते हुये नौजवान कमिटि के द्वारा शहर के हरिणडंगा बाजार , ताजिया चौक ,बगणपडा कमिटी ,मंसूरिटोला ,अजमेरी मोहल्ला ,आजाद मोहल्ला ,पाकुड़ बाजार में जुलूस महामदी निकाला . जूलूस शहर के चौके चौराहे से गुजरते हुए हरिण डंगा बाजार में सम्प्पन हुआ जंहा नियाज फातेहा किया गया वंही रसूल के आमद पर शीरनी बितरण किया गया जुलूस मोहम्मदी में बच्चे नोजवान व बुजर्गों ने शिरकत की। वही मौके पर मौजूद हाफिज अबू नसर अशरफी ने बताया कि हजरत मोहम्मद का जन्मदिवस हहर्षोल्लास के साथ मनाया गया । उनका जन्मदिन ईद-ए-मिलाद-उन-नबी के तौर पर मनाया जाता है. इस्लामिक कैलेंडर के मुताबिक इस्लाम के तीसरे महीने रबी-अल-अव्वल की 12वीं तारीख, 571ईं. के दिन ही इस्लाम के सबसे महान नबी और आखिरी पैगंबर का जन्म हुआ था. जो अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार 2021 में 19 अक्टूबर को मनाया जा रहा है उनकी जन्म की खुशी में देश के अमन चेन के लिये दुआ माँगी गई पैगंबर मोहम्मद की दी गई शिक्षाओं और पैगामों को पढ़ा गया. बता दें पैगंबर हजरत मोहम्मद ने ही इस्लाम धर्म की पवित्र किताब कुरान की शिक्षाओं का उपदेश दिया था.ग्रामीण क्षेत्र में भी इस दौरान कई धार्मीक कार्य का आयोजन किया गया।