शिबू सोरेन से मिला संघर्ष मोर्चा के प्रतिनिधि, जाना कुशलक्षेम

इस सरकार में झारखंड आंदोलनकारियों को जरूर मिलेगा राजकीय सम्मान: शिबू सोरेन

दुमका: झारखंड आंदोलनकारी संघर्ष मोर्चा का एक प्रतिनिधि मंडल झारखंड आंदोलनकारियों के अगुआ दिसुम गुरु शिबू सोरेन से उनके खेसरिया, दुमका स्थित आवास में मुलाकात की। प्रतिनिधि मंडन ने कुशलक्षेम जानने के बाद अलग राज्य के लिए संघर्ष करने वाले झारखंड आंदोनकारियों को सरकार द्वारा राजकीय मान- सम्मान,नियोजन,पेंशन व पहचान नहीं दिए जाने की शिकायत की। इस पर श्री सोरेन ने कहा कि एक बार सरकार से मिलकर बात करो,फिर मुझे कहना। जरूरत होगा तो हम भी जायेगे तुमलोगों के साथ। आंदोलनकारियों की बाते जरूर सुनी जाएगी। सभी झारखंड आंदोलकारियों को मिलेगा राजकीय सम्मान । अभी हम यहां रहेंगे । प्रतिनिधि मंडल में मोर्चा के केंद्रीय उपाध्यक्ष प्रफुल्ल ततवा, शिव लाल मरांडी, सुशील मुर्मू प्रमुख थे।
गुरुजी से मिलने के बाद श्री ततवा ने कहा कि जल्द मुख्यमंत्री से मिलेंगे व अपनी मांगो को रखेंगे। अलग राज्य बनने के बाद से ही झारखंड आंदोलनकारी ठगे जा रहे है । 21 वर्षो में झारखंड आंदोलनकारियों की पहचान न होना,दुर्भाग्य की बात है। स्वयं गुरुजी झरखन अलग राज्य के आंदोलन के अगुआ नेता रहे है। उनके नेतृत्व में ही हमलोग संथाल परगना के लोग अलग राज्य की लड़ाई 1980 से 90 के दशक तक लडे है। आज हमारी पार्टी सत्ता में है और हम्लोगों को उम्मीद भी है कि इस सरकार के रहते चिन्हितीकरण का कार्य पूरा हो जाएगा। बाल- बच्चो को नौकरी व सभी आंदोलनकारियो को पेंशन, राजकीय मान सम्मान व सुविधाएं जरूर मिलेगा। हेमंत बाबू से जल्द ही मिलेंगे । आंदोलनकारियों की बातें जरूर सुनी जाएगी। अभी मांग पत्र एक दो दिन में ही तैयार कर लेंगे। केंद्रीय पदाधिकारीगण इस दिशा में लगातार काम कर रहे हैं।