माता पिता अभिभावक की संवेदनशीलता बच्चों के अधिकारों की सुनिश्चितता व संवेदनशीलता की बुनियाद

बोकारो: आज सुबह 7 बजे से लेकर 9 बजे तक अंबेडकर नगर , सेक्टर 1 , बोकारो स्टील सिटी में बाल अधिकार सरंक्षण जागरूकता अभियान मनोवैज्ञानिक सह कार्यक्रम निदेशक डॉ प्रभाकर कुमार के नेतृत्व में युवाओं की सहभागिता से चलाई गई ।
डॉ प्रभाकर कुमार ने अंबेडकर नगर के बच्चों सहित माता पिता अभिभावकों समुदायों को बाल अधिकार , बाल कानून , बच्चे की कानूनन परिभाषा , बाल विवाह , बाल श्रम , सुरक्षा अधिकार के अंतर्गत पोक्सो कानून , बाल विवाह से जुड़े बाल दुर्व्यापार , मानव अंगों की तस्करी आदि पर सविस्तार चर्चा किया ।
डॉ कुमार ने बतलाया कि किशोर न्याय अधिनियम 2015 के अंतर्गत बच्चे के अधिकारों की रक्षा हेतु कानून का प्रावधान है । बच्चे के अधिकारों की रक्षा कर हम सुरक्षित बचपन की संकल्पना को मूर्त रूप दे सकते हैं । सुरक्षित बचपन ही सुरक्षित भारत की सार्थक परिदृश्य को रेखांकित कर पायेगी । बच्चे के अधिकारों को सुरक्षित करने में बाल कल्याण पुलिस पदाधिकारी के साथ साथ चाइल्ड लाइन के द्वारा प्राप्त टॉल फ्री नो 1098 की भी भूमिका जिसे सभी बच्चे , उनके माता पिता अभिभावकों को याद करवाया गया ।
बाल अधिकार , बाल कानून , बाल मुद्दों की अद्यतन जानकारी बच्चों सहित उनके माता पिता अभिभावकों समुदाय समाज तक विश्लेषण कर संवेदनशीलता व सभ्य समाज का निर्माण कर सकते हैं ।
आज के जागरूकता अभियान में युवाओं में कृष्ण कांत तिवारी , अभिषेक आनंद , अनिल सोनी उपस्थित थे जिन्होंने बच्चों को सामाजिक दूरी का पालन करवाकर मास्क पहनवाया । बच्चों मे बतलाये गये विषय से ही प्रतिस्पर्धा करवाकर पुरस्कृत करते हुए स्टेशनरी सामग्री एवं चॉकलेट वितरित किये गये । बच्चे के मनोवल को बढ़ाने का हर संभव प्रयास किया गया ।