टीके से शरीर पर किसी भी तरह के दुष्प्रभाव नहीं पड़ते, कोरोना वायरस से बचाव करने में कारगर है : उपायुक्त

गुमला: वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के बढ़ते प्रसार के नियंत्रण एवं रोकथाम के मद्देनजर गुमला जिलांतर्गत कोरोना संक्रमण के लक्षण वाले मरीजों को प्रारंभिक उपचार मुहैया कराने के उद्देश्य से आज औषधि वितरण दिवस मनाया गया। इस अवसर पर उपायुक्त गुमला शिशिर कुमार सिन्हा ने प्रशासनिक पदाधिकारियों के साथ रायडीह प्रखंड के सिलम स्थित राजकीयकृत उत्क्रमित उच्च विद्यालय प्रांगण में आयोजित औषधि वितरण दिवस का अवलोकन किया।

उपायुक्त ने रायडीह प्रखंड के सिलम स्थित राजकीयकृत उत्क्रमित उच्च विद्यालय में आयोजित औषधि वितरण दिवस का निरीक्षण किया। मौके पर उपस्थित सामुदायिक स्वास्थ्य पदाधिकारी (सी.एच.ओ), एएनएम नर्सों एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रायडीह के स्वास्थ्यकर्मियों के द्वारा विद्यालय प्रांगण में मौजूद कोरोना संक्रमण के लक्षण वाले व्यक्तियों के बीच निरोधात्मक दवाओं सहित मेडिकल किट एवं फेस मास्क का वितरण किया गया। एएनएम नर्स द्वारा उपस्थित लोगों को मेडिकल किट में शामिल 09 निरोधात्मक दवाओं के उपयोग तथा दवा के डोज की संपूर्ण जानकारी दी गई। इसके साथ ही सीएचओ एवं एएनएम द्वारा दवाओं के साथ-साथ गर्म पानी के सेवन, गुनगुने पानी एवं नमक के साथ गरारे की महत्ता तथा गर्म पानी से भांप लेने की विधि को अपने दैनिक जीवन में अपनाने पर जोर दिया गया।

उपायुक्त ने कोरोना संक्रमण के लक्षण वाले व्यक्तियों को एएनएम द्वारा किए जाने वाले कोरोना जाँच पर भरोसा रखने, कोरोना संक्रमित होने पर स्वयं को दूसरों से आईसोलेट करते हुए उपलब्ध कराए गए निरोधात्मक दवाओं का सेवन समय पर करने, कोविड समुचित व्यवहार यथा मास्क पहनने, निरंतर हाथ धोने तथा सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करने की सलाह दी। उन्होंने कोरोना संक्रमण के गंभीर लक्षण दिखने पर तुरंत जिला प्रशासन एवं प्रखंड प्रशासन को सूचित कर त्वरित स्वास्थ्य लाभ प्राप्त करने पर जोर दिया। साथ ही उन्होंने लोगों को कोरोना वायरस से बचाव हेतु टीकाकरण लगवाने हेतु प्रेरित किया। उन्होंने टीके को लेकर फैलने वाली भ्रांतियों पर ध्यान न देने की अपील करते हुए कहा कि वैक्सीन लगने के बाद लोगों में वैक्सीन वाली जगह पर दर्द, हल्का बुखार, वैक्सीन वाली जगह पर सूजन या उस जगह का लाल पड़ जाने जैसे लक्षण दिखाई देना आम है। इसमें घबराने की जरूरत नहीं है। उन्होंने बताया कि टीका पूरी तरह सुरक्षित है। इससे शरीर पर किसी भी तरह के दुष्प्रभाव नहीं पड़ते। बल्कि कोविड टीकाकरण कोरोना वायरस से बचाव करने में कारगर है। मैंने स्वयं टीके का दोनों डोज लगवाया है। इसलिए आप खुद भी निर्भीक होकर टीका लें और अपने आसपास के लोगों को भी कोरोना का टीका लेने के लिए प्रेरित करें। इसके साथ ही उन्होंने सहियाओं को अपने-अपने स्तर से टीकाकरण तथा कोविड जाँच से संबंधित आवश्यक जानकारियों एवं इनके प्रति फैलने वाली भ्रांतियों को समाप्त करने हेतु व्यापक प्रचार-प्रसार कर आमजनों को जागरूक करने की अपील की। उपायुक्त ने लोगों को कोरोना काल में किसी भी तरह के सार्वजनिक कार्यक्रम, शादी समारोह इत्यादि में शामिल न होने की हिदायत दी। साथ ही उन्होंने प्रखंड विकास पदाधिकारी रायडीह को अधिक से अधिक कोरोना जाँच सुनिश्चित करने एवं टीकाकरण अभियान में गति लाने का निर्देश दिया।

मौके पर एएनएम द्वारा टीकाकरण एवं कोविड टेस्टिंग को लेकर आमजनों में फैलने वाली भ्रांतियों के विषय में अवगत कराया गया। इसपर अपर समाहर्त्ता सुधीर कुमार गुप्ता ने बताया कि कोविड-19 से स्वयं औऱ अपने परिवार को सुरक्षित रखने का एकमात्र उपाय टीकाकरण है। कोविड टीका सुरक्षित होने के साथ ही कारगर भी है। कोविड-19 से बचाव के निमित आप सभी टीके का दोनों डोज अवश्य लगवाएं। किसी भी तरह के अफवाह, भ्रम व भ्रांतियों पर विश्वास न करें। उन्होंने बताया कि कोरोना संक्रमण के लक्षण पाए जाने वाले लगभग 2000 लोगों ने अपना कोविड जाँच कराते हुए, घर पर रहकर निरोधात्मक दवाओं का समय पर सेवन कर स्वस्थ हुए हैं। उन्होंने कोविड जाँच की विशेषताओं को साझा करते हुए बताया कि समय पर कोविड जाँच कराने तथा प्रारंभिक उपचार प्राप्त करने से कोरोना संक्रमण से प्रभावित व्यक्ति के स्वस्थ होने की संभावना बढ़ जाती है। उन्होंने आगे बताया कि इस माह जिले के 953 गाँवों में से 550 गाँवों में लोगों का कोविड जाँच कराया गया। उन्होंने कोविड जाँच की महत्ता एवं जाँच की विशेषताओं से आमजनों को अवगत कराने पर विशेष जोर दिया। उन्होंने सीएचओ एवं एएनएम नर्सों से सिलम सहित आसपास के वैसे लाभार्थी जिन्होंने कोविड टीकाकरण का दोनों डोज ले लिया है, उनकी सूची तैयार कर संधारित करने का निर्देश दिया। इसके साथ ही उन्होंने स्वास्थ्यकर्मियों को समाज के साथ-साथ अपने स्वास्थ्य की सुरक्षा पर भी विशेष ध्यान देने पर जोर दिया। उन्होंने कोविड जाँच तथा टीकाकरण में सम्मिलित एएनएम, सहिया एवं अन्य स्वास्थ्यकर्मियों को भी टीकाकरण के दोनों डोज लगवाने का निर्देश दिया।

सदर अनुमंडल पदाधिकारी रवि आनंद ने उपस्थित लोगों को अधिक से अधिक संख्या में अपना टीकाकरण सुनिश्चित करने हेतु प्रेरित किया। इस संबंध में उन्होंने कहा कि टीकाकरण आपके साथ-साथ आपके छोटे-छोटे बच्चों को भी इस महामारी से सुरक्षित रखने में कारगर है। इसलिए आप टीका लेने से न घबराएं, टीके के दोनों डोज अवश्य लें। उन्होंने लोगों को टीकाकरण हेतु प्रेरित करते हुए कहा कि आप सुरक्षित होंगे तभी आपके बच्चे भी कोरोना वायरस से सुरक्षित रह पाएंगे, इसलिए टीके के प्रति फैलने वाले भ्रम पर भरोसा न करें औऱ अपनी बारी आने पर टीका अवश्य लगवाएं।

औषधि वितरण दिवस के अवसर पर उपायुक्त शिशिर कुमार सिन्हा, अपर समाहर्त्ता सुधीर कुमार गुप्ता, सदर अनुमंडल पदाधिकारी रवि आनंद, प्रखंड विकास पदाधिकारी रायडीह मिथिलेश कुमार सिंह, पंचायत समिति सदस्य खुशमन नायक, सामुदायिक स्वास्थ्य पदाधिकारी, एएनएम सहित स्वास्थ्यकर्मी, सहिया एवं आमजन उपस्थित थे।