बोर्ड की बैठक में ज्वलंत जनसमस्याओं को रखे जाने की बात कार्यपालक पदाधिकारी से नप उपाध्यक्ष ने कही

सरायकेला से भाग्य सागर सिंह की रिपोर्ट
सरायकेला। राज्य सरकार द्वारा विगत दिनों नगर पंचायत बोर्ड के एजेंडे बनाने की जिम्मेवारी कार्यपालक पदाधिकारी को दी गई। नगर पंचायत उपाध्यक्ष मनोज कुमार चौधरी ने 14 सितंबर को होनेवाले बोर्ड बैठक के एजेंडे के संबंध में बताया कि काफी लंबे अंतराल के बोर्ड बैठक नहीं होने से जनहित एवं विकास कार्य में प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है। बोर्ड बैठक में सरायकेला क्षेत्र के विभिन्न वार्डों के नगर वासियों से समस्याओं की जानकारी लेते हुए विकास योजना एवं समस्याओं को बोर्ड की बैठक के एजेंडे में शामिल करने को कार्यपालक पदाधिकारी से उन्होंने कहा। जिसमें प्रमुख एजेंडा सरायकेला कोर्ट के जलजमाव समस्या को दूर करने हेतु नाला बनवाने के प्रस्ताव को रखना, नगर पंचायत अंतर्गत देहुरीडीह, गुट्टुसाई, गुड़ियाडीह, नोरोडीह, सरगीडीह, कोडासाई बस्तियों हेतु विकास के प्लान बनाना, नगर पंचायत अंतर्गत रहने के बावजूद इन बस्तियों में आज तक कोई प्लान नहीं बन सका है। सरायकेला नगर वासियों द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले दोनों श्मशानो के पहुंच पथ में स्ट्रीट लाइट लगवाने का एवं पेयजल हेतु बोरिंग करवाने का प्रस्ताव रखा। भैरव साल श्मशान घाट के पहुंच पथ का कालीकरण करवाने का प्रस्ताव रखना। शहरी विद्युतीकरण का कार्य काफी धीमी गति से करने से लोगों की काफी परेशानी हो रही है इसीलिए सरकारी एजेंसी और जूस्को को ससमय और गुणवत्ता पूर्वक काम करने के लिए नोटिस जारी करना। सरायकेला जैसे छोटे शहर में चार जलमिनार रहने के बावजूद पीएचडी के पदाधिकारियों की असंवेदनशीलता के कारण काफी कम मात्रा में पेयजल आपूर्ति हेतु कारण बताओ नोटिस जारी करना, सरायकेला नगर पंचायत अंतर्गत पाटरा पोखर, कान्हाई पोखर, हंसाउडी पोखर जीर्णोद्धार एवं सौंदर्यीकरण का प्रस्ताव रखना सरायकेला डेली मार्केट के जीर्णोद्धार प्रस्ताव रखना। स्ट्रीट लाइट/एलइडी लाइट के मेंटेनेंस हेतु कुशल संवेदक एवं मिस्त्री की बहाली हेतु प्रस्ताव रखना। फुटपाथ दुकानदारों एवं अन्य शिक्षित बेरोजगारों को बैंकों द्वारा कम ब्याज पर ऋण उपलब्ध कराने हेतु लोन शिविर की तिथि तय रखने करने का प्रस्ताव रखना। नगर पंचायत द्वारा उपलब्ध कराए गए जॉब कार्ड धारकों को रोजगार से जोड़ने का प्रस्ताव रखना। नगर पंचायत अंतर्गत छुटे हुए मोहल्लों एवं कॉलोनियों में जल आपूर्ति हेतु पाइप लाइन का प्रस्ताव रखना। और भी अन्य छोटी-बड़ी समस्याएं बोर्ड की बैठक में रखने का प्रस्ताव दिया गया है।