रामगढ़ पुलिस के द्वारा मारपीट और अभद्र व्यवहार को लेकर पीड़ित ने एसडीओ को आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई

पूरे परिवार को भयमुक्त वातावरण से जीवन जीने की मदद की मांग किया

सिरका : बुधबाजार सिरका थाना रामगढ़ क्षेत्र के बुधबाजार सिरका निवासी नीरू देवी ने मंगलवार को रामगढ़ एसडीओ से पत्र द्वारा रामगढ़ पुलिस बल के द्वारा थाना प्रभारी की मौजूदगी में गाली, गलौज, मारपीट करने के संबंध में भयमुक्त वातावरण जीवन जीने की मदद करने की गुहार लगाई है। पत्र में कहां गया है कि बीते 28 अगस्त 2021 को रात्रि 1:30 बजे रामगढ़ पुलिस घर का दरवाजा तोड़कर अंदर घुस आई। इस दौरान कक्ष में मेरे पति अर्जुन रवानी मिले, हम सभी परिवार के लोग उठ गए हैं। पुलिस वालों से इतनी रात आने की वजह पूछने पर गाली- गलौज करने लगे। इससे हम लोग भयभीत हो गए। पुलिस वालों के धक्के से दरवाजा टूट गया, खिड़की को भी क्षति पहुंचाई गई। हम लोगों ने सोचा पुलिस इस तरह प्रवेश नहीं करती हैं, ऐसा व्यवहार भी नहीं करती हैं। बाद में पुलिस चली गई। 29 अगस्त 2021 को मेरे पुत्र राजकुमार रवानी एक राजनीतिक पार्टी से जुड़े होने व इसके कार्यक्रम में रहने पर कुछ व्यस्तता थी। आगे थाने जाने की सोच रखे थे। लेकिन 30 अगस्त 2021 को संध्या 4:30 बजे बिना बोले रामगढ़ पुलिस घर में घुस आए। मेरे पुत्र करण रवानी को खोजने लगे। पूछने पर मुझे एक डंडा मार दिया। इसी दौरान गर्भवती बहू ज्योति देवी, पुत्री किरण देवी ने पूछा तो उसके साथ भी मारपीट किया गया। मारपीट के डंडों के पैरों में दाग पड़े हैं। घटना के बाद से ही रवानी परिवार के बच्चों, बड़ों में भय का वातावरण व्याप्त हैं। सभी ने सुरक्षा और भयमुक्त वातावरण की मांग एसडीओ से की हैं।