जेनासाई डैम के सवाल पर भी नही हुई चर्चा, बिहार सरकार के समय से ही डैम में लीकेज: सुखराम उरांव

रामगोपाल जेना
चक्रधरपूर : मानसून सत्र के दौरान अंतिम दिन विधायक सुखराम उराँव का जो सवाल आया था उस पर भी हंगामे के कारण चर्चा नही हुई ।मानसून सत्र के दिरान अंतिम दिन विधायक सुखराम उराँव का जो सवाल था वह जेनासाई जलाशय का था जेनासाई जलाशय की स्थिति बेहद ही चितनाजनक है बिहार सरकार के समय से ही लीकेज है और मरम्मत के नाम पर अब तक कई बार टेंडर हुआ है विभाग भी लाखों लाख रुपये पूर्व में मरम्मत के नाम पर खर्च की है पर अब भी वही हाल है संबंधित क्षेत्र के किसान परेशान है विभाग भी मानती है कि लीकेज है आखिर ये कैसे ठीक होगा। विपक्ष के हंगामे के कारण ही आज सदन में इस पर बहश नही हुई उन्होंने कहा कि मानसून सत्र में तीनों सवाल अति महत्वपूर्ण था पर हंगामे की भेंट चढ़ गया। भाजपा विधायकों के सदन में हनुमान चालीसा की पाठ करने की मांग को लेकर हंगामे के कारण विधायक सुखराम उरांव की जवाहरलाल नेहरू महाविद्यालय से सबंधित सवाल पर चर्चा हुई विधायक सुखराम उरांव द्वारा चक्रधरपुर जवाहरलाल नेहरू महाविद्यालय से संबंधित विधानसभा में भवन निर्माण को लेकर सवाल उठाए थे जो हंगामे की भेंट चढ़ गया।
विधायक सुखराम उरांव ने जो सवाल उठाए थे उसमें उन्होंने कहा है कि जावाहर लाल नेहरू महाविद्यालय में लगभग 7000 विद्यार्थी अध्यनरत है । पर अब तक अपना भवन नहीं है इसी प्रकार ऐतिहासिक रानी तालाब पर सदन में नही हुई चर्चा,विधायक सुखराम ने विपक्ष पर साधा निशाना। इसी प्रकार विधायक सुखराम ने सदन में उठाया,ऐतिहासिक रानी तालाब का मामला पर नही हुई चर्चा ।विधायक सूखराम ने कहा कि लगातार विपक्ष के हंगामे के कारण ही सदन में प्रमुख समस्या के समाधान की दिशा में कोई चर्चा नही हो रही है विपक्ष को निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि विपक्ष का एक ही मंशा है कि सदन चलने नही देना है और काम काज बाधित होते रहे।विपक्ष के इस प्रकार के हरकतों से विधायक खासे नाराज है विभाग से जो उन्हें जबाब मिला है उसमें कहा गया है कि चक्रधरपूर का ऐतिहासिक रानी तालाब का डीपीआर हो रहा है तैयार,15 वां वित्त आयोग के फंड से होगा कार्य।
विधायक ने कहा रानी तालाब के अतिक्रमण के साथ साथ प्रदूषित की जा रही है और इस पर वे सदन में चर्चा करना चाहते थे कि आखिर काम कब से शुरू होगा।