खांसी, बुखार, टाइफाइड सिम्टम्स वाले को भी कोविड की संभावना: डीसी

– संदिग्ध कोरोना संक्रमितों की सूचना संबंधित प्रखंड विकास पदाधिकारियों को दें

गोड्डा से अभय पलिवार की रिपोर्ट
गोड्डा: उपायुक्त भोर सिंह यादव ने जिलेवासियों से अपील की है कि जिले के विभिन्न प्रखंडों, पंचायतों एवं सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में जिनको भी खांसी ,जुकाम ,बुखार या टाइफाइड के सिम्टम्स नजर आते हों, उनको कोविड की संभावना है। यह सूचना संबंधित प्रधान कार्यकारी समिति (मुखिया)के माध्यम से संबंधित प्रखंड विकास पदाधिकारी को सूचित करें, जिससे कि उनको सही समय पर होम आइसोलेशन में कोविड किट एवं ऑक्सीजन उपलब्ध कराया जा सके।
संदिग्ध कोविड संक्रमितों की सूचना अपने प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं एमओआईसी को दिए जाएं। उपायुक्त ने सभी प्रखंडों , पंचायत एवं सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में अनिबंधित चिकित्सकों (प्राइवेट प्रैक्टिसनर) से अपील है कि उनके चिकित्सा करने के दौरान सर्दी ,जुकाम ,खासी, टाइफाइड के लक्षण किसी भी रोगियों को प्रतीत होते हैं, तो वैसे रोगी भी कोरोना संक्रमित हो सकते हैं। वैसे रोगियों की सूचना सहिया, आंगनबाड़ी सेविका ,पीडीएस डीलर, प्रधान कार्यकारी समिति (मुखिया) ,पंचायत सचिव, एमओआईसी एवं प्रखंड विकास पदाधिकारी को प्रदान करें। साथ ही साथ वैसे संदिग्ध कोविड रोगियों की जांच कराने में जिला प्रशासन का सहयोग करें एवं इनकी जानकारी लगातार जिला प्रशासन को देते रहें ।
उपायुक्त के द्वारा बताया गया कि प्रधान कार्यकारी समिति (मुखिया),पंचायत सचिव आंगनवाड़ी सेविका, पीडीएस डीलर ,सहिया से भी अपील की जाती है कि संबंधित सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों ,पंचायतों, प्रखंडों एवं जिले में किसी भी प्रकार की संदिग्ध कोविड रोगियों की पहचान की जाती है तो जिला प्रशासन को इसकी सूचना अवश्य दें। साथ ही कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बचाव एवं रोकथाम में अपनी अहम भूमिका निभाते हुए इस पुनीत कार्य में जिला प्रशासन का सहयोग करें ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *