नोडल शिक्षकों का तीन दिवसीय प्रशिक्षण संपन्न

पथरगामा: आईसीआरडब्ल्यू एवं साथी संस्था के द्वारा झारखंड शिक्षा परिषद के सहयोग से चल रहे जेम्स परियोजना के अंतर्गत चल रहे तीन दिवसीय प्रशिक्षण बुधवार को संपन्न हो गया। बीआरसी में चल रहे इस प्रशिक्षण में पथरगामा ब्लॉक से चयनित नोडल शिक्षक शामिल है। प्रशिक्षण कार्यक्रम दो पाली में चलाया गया। दो पाली में कुल 60 शिक्षकों को प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण में प्रशिक्षक महेंद्र कुमार एवं संजना मोरया ने दिया गया। बताया कि इस प्रशिक्षण कार्यक्रम का उद्देश्य जेंडर समानता के लिए शिक्षकों के जेंडर मुद्दों पर जानकारी बढ़ाना एवं बच्चों को इन विषयों पर विभिन्न माध्यमों से जानकारी बढ़ाने के तरीकों पर कौशल बढ़ाना है। प्रशिक्षण के दौरान जेंडर व जेंडर आधारित भेदभाव , जेंडर भेदभाव को बढ़ावा देने वाले सामाजिक मान्यताएं एवं उनका लड़की और महिलाओं पर असर, पित्रसत्ता ,पित्रसत्ता को बढ़ावा देने वाली संस्थाएं, जेंडर आधारित व्यवस्थाओं से महिलाओं और पुरुषों को होने वाले नुकसान, और उनके प्रभाव पर सहभागी तरीके से चर्चा किया गया। इस प्रशिक्षण में खुली व समूह चर्चा, प्रस्तुतीकरण, रोल प्ले, फिल्म प्रदर्शन एवं खेल आदि के माध्यम से समझ बढ़ाने का प्रयास किया गया। कार्यक्रम के अंतिम सत्र में स्कूलों में बच्चों के साथ चलाए जाने वाले सत्रों का अभ्यास कार्य कराया गया।, ताकि अध्यापक बच्चों के साथ जेंडर के विभिन्न मुद्दों पर सहभागी तरीके से सत्रों को संचालित कर सके। अंजली सिंह सहायक प्रशिक्षक ने बताया कि इसके लिए उपस्थित प्रतिभागियों द्वारा खुद एवं परिवार के स्तर पर किए जाने वाले बदलाव व अपने स्कूल के स्तर पर किए जाने वाले प्रयासों का नियोजन तैयार किया गया। मौके पर शिक्षक परमेश्वर महतो, रामानुज कुमार ,संजय कुमार दुबे ,संजीव कुमार साह, सत्यनारायण महतो, जयप्रकाश भगत, अनिल साह, पंकज यादव, नूतन राय, अनिता कुमारी, राजेश गुप्ता आदि मौजूद थे