हक और अधिकार के लिए आदिवासी समाज को एकजुट होना जरूरी : अमृतलाल

चितरपुर स्थित आजसू प्रधान कार्यालय, बोरोबिगं के बिरसा क्लब व मायल  सहित कई जगहों में मनाया गया विश्व आदिवासी दिवस

रजरप्पा(रामगढ़): चितरपुर स्थित आजसू प्रधान कार्यालय, बोरोबिगं के बिरसा क्लब सहित कई जगहों में सोमवार को विश्व आदिवासी दिवस कार्यक्रम मनाया गया। इस दौरान आजसू प्रधान कार्यालय में मुख्य रूप से उपस्थित आजसू के कार्यकारी ज़िलाध्यक्ष अमृतलाल मुंडा ने भगवान बिरसा मुंडा, बाबा भीम राव अंबेडकर, और महात्मा बुद्ध के चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धा सुमन अर्पित की। मौके पर उन्होंने कहा कि हम सभी के हक अधिकार और संविधान में दिये गए आरक्षण को बचाने और अपनी संस्कृति को बचाने के लिये जागरुक होकर आगे आना होगा। जल जंगल जमीन की सुरक्षा हमें एक होकर संघर्ष करने से मिलेगा। उन्होंने आगे कहा कि अनुसूचि पांच और छह अगर सरकार लागू करेगी। तभी आदिवासी को सही रुप से अधिकार मिलेगा।

दौड़ में गोल्ड मेडल प्राप्त करने वाली आरती से रजरप्पा को काफी उम्मीदें, राष्ट्रीय पहचान बनाना चाहती है

डीएवी रजरप्पा की छात्रा अंडर 16 में गोल्ड मेडल जीत चुकी आरती कुमारी अब कुश्ती में राष्ट्रीय पहचान बनाना चाहती है। मायल केंदुआ टांड़ निवासी तिलेश्वर महतो की सुपुत्री 15 वर्षीय आरती कुमारी को विश्व आदिवासी दिवस के मौके पर सम्मानित किया गया। आरती के अनुसार सीमित संसाधनों के बावजूद वह बेहतर प्रदर्शन करते हुए वर्ष 2016 में रांची स्थित डीएवी नंदराज द्वारा आयोजित प्रतियोगिता में गोल्ड मेडल प्राप्त हुआ। उन्होंने बताया कि अब वह कुश्ती के खिलाडी है और आने वाले दिनों में कुश्ती के क्षेत्र में राष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनाने की इच्छा है। कार्यक्रम के दौरान उस आदिवासी समाज की लड़की को आजसू जिला कार्यकारी अध्यक्ष द्वारा शॉल ओढ़ाकर सम्मानित भी किया गया। साथ ही उन्हें आजसू द्वारा हर सम्भव मदद का आश्वासन भी दिया। मौके पर रमेश दांगी, अरविंद सिंह, तारा कुमारी, नीना देवी, दिवाकर नायक, भानुप्रकाश महतो, टुशील देवी, संतोष महतो, प्रयाग मुर्मू, अमृत कुमार, सुदेश महतो, मुनिलाल साव, महानंद महतो, राजू महतो, सतीश मुंडा, मलेश्वर नायक, दिनेश चौधरी, जगरनाथ बेदिया, प्रकाश बेदिया, राजेश बेदिया, सुधन बेदिया, सोहराय बेदिया, महितराम बेदिया ,  दिनेश बेदिया, शंकर मुण्डा, गौतम मुण्डा, किर्ति करमाली, मौजूद थे।