दो दिवसीय प्रशिक्षण शिविर का शुरू, डीसी ने कहा- इस अभियान से कमजोर तबके को मजबूत करने के लिए काम किया जायेगा

सबकी योजना सबका विकास अभियान 2021 के तहत ग्राम पंचायत विकास योजनांतर्गत प्रखंड संसाधन दल के दो दिवसीय जिला स्तरीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ नगर भवन में किया गया

इस कार्यशाला का मुख्य उद्देश्य प्रतिभागियों का क्षमता वर्द्धन करना है, ताकि समाज के साथ-साथ समाज में रहने वाले वंचित लोगों का भी विकास किया जा सके- डीडीसी

: सरकार की योजनाएं तब ही धरातल पर आएंगी जब जन सहभागिता होगी और लोगों के अनुरूप योजनाओं का चयन किया जाएगा- जिला पंचायत राज पदाधिकारी

गुमला: सबकी योजना सबका विकास अभियान 2021 के तहत ग्राम पंचायत विकास योजनांतर्गत प्रखंड संसाधन दल के दो दिवसीय जिला स्तरीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ नगर भवन में किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ उपायुक्त, उप विकास आयुक्त सदर अनुमंडल पदाधिकारी, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी एवं जिला पंचायत राज पदाधिकारी द्वारा संय़ुक्त रूप से दीप प्रज्जवलित कर किया गया।

सबकी योजना सबका विकास अभियान को संबोधित करते हुए उपायुक्त शिशिर कुमार सिन्हा ने कहा कि ग्रामीण विकास विभाग (पंचायती राज) झारखंड राँची के निर्देशानुसार विगत वर्ष 2018-19 एवं 2019-20 की भांति इस वर्ष भी आगामी 02 अक्तूबर 2021 से 31 जनवरी 2022 तक सबकी योजना सबका विकास अभियान का संचालन किया जाना है। इस निमित्त आज गुमला जिलांतर्गत प्रखंड संसाधन दल के दो दिवसीय जिला स्तरीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया है। इस अभियान के माध्यम से ग्राम पंचायतों की संख्या को ध्यान में रखते हुए बड़े पैमाने पर शुरू किया गया है। जिसके द्वारा जिले के अनुसूचित जाति,अनुसूचित जनजाति, महिलाओं आदि जैसे समाज के कमजोर एवं वंचित वर्गों की अधिकतम भागीदारी सुनिश्चित करते हुए समाज का विकास किया जाएगा। इसके लिए 29 विभागों को समावेशित किया गया है। उन्होंने कहा कि केवल योजनाओं का चयन ही नहीं अपितु गाँव-गाँव जाकर वहां की समस्याओं का आंकलन करते हुए आवश्यकतानुसार योजनाओं का चयन करने हेतु ग्राम सभा में उपस्थापित भी करें। उन्होंने आगे कहा कि केवल रोड/ पुल/ पुलिया से संबधित योजनाओं का ही चयन न करें, वरन ग्रामवार एवं व्यक्तिवार समस्याओं का आंकलन कर, उन समस्याओं को समावेशित करते हुए उनका निष्पादन भी सुनिश्चित कराएं

इस अवसर पर सबकी योजना सबका विकास अभियान को संबोधित करते हुए उप विकास आयुक्त संजय बिहारी अंबष्ठ ने कहा कि यह अभियान 02 अक्तूबर 2021 राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी के जन्मदिवस के अवसर पर प्रारंभ होकर आगामी 31 जनवरी 2022 तक संचालित की जाएगी। अभियान के दौरान त्रिस्तरीय पंचायतों द्वारा अपनी वार्षिक विकास योजना तैयार की जाएगी एवं इसकी प्रविष्टि तथा अनुमोदन ई-ग्राम स्वराज पोर्टल पर की जाएगी। जिला स्तरीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में भाग लेने वाले प्रतिभागी इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रशिक्षित होने के उपरान्त प्रखंड स्तर पर मास्टर ट्रेनर के रूप में तैयार होकर पंचायतों में गठित टीम को प्रशिक्षित करेंगे। प्रशिक्षण प्राप्त कर यह ग्राम पंचायत फेसिलिटेशन टीम को भी प्रशिक्षित करेंगे तथा ग्राम पंचायतों को वित्तीय वर्ष 2022-23 की वार्षिक कार्य योजना बनाने में सक्रीय सहयोग करेंगे। उन्होंने आगे कहा कि सभी विभागों का समावेश कर एक चरणबद्ध तरीके से ग्राम पंचायत के विकास के लिए ग्राम पंचायत विकास योजना तैयार कर विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं का चयन कर उनका क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जाएगा। इस कार्यशाला का मुख्य उद्देश्य प्रतिभागियों का क्षमता वर्द्धन करना है, ताकि समाज के साथ-साथ समाज में रहने वाले वंचित लोगों का भी विकास किया जा सके।

इस अवसर पर जिलास्तरीय प्रशिक्षण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जिला पंचायत राज पदाधिकारी मोनिका रानी टूटी ने कहा कि आज के प्रशिक्षण कार्यक्रम में गुमला जिले के सभी प्रखंडो से आए बीपीएम, मनरेगा के बीपीओ, प्रखंड पंचायती राज पदाधिकारी, प्रखंड समन्वयक पंचायती राज, प्रखंड समन्वयक पेयजल एवं स्वच्छता प्रमंडल को प्रशिक्षण दिया जाएगा। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य प्रखंड स्तर पर इन्हें मास्टर ट्रेनर के रूप में तैयार कर इनके द्वारा पंचायतों में गठित टीम को प्रशिक्षित किया जाना है। उन्होंने आगे कहा कि सरकार की योजनाएं तब ही धरातल पर आएंगी जब जन सहभागिता होगी और लोगों के अनुरूप योजनाओं का चयन किया जाएगा।

कार्यशाला में जेएसएलपीएस के राज्य स्तरीय मास्टर ट्रेनर मन्सूर द्वारा पावरप्वाइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से प्रशिक्षणार्थियों को प्रशिक्षण दिया गया। कार्यशाला का मंच संचालन डीपीएम जिला पंचायत शाखा शशि किरण मिंज द्वारा किया गया।

उपस्थिति: कार्यशाला में उपायुक्त शिशिर कुमार सिन्हा सहित उप विकास आयुक्त संजय बिहारी अंबष्ठ, सदर अनुमंडल पदाधिकारी रवि आनंद, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी देवेंद्रनाथ भादुड़ी, जिला पंचायत राज पदाधिकारी मोनिका रानी टूटी, डीपीएम जिला पंचायत शाखा शशि किरण मिंज, राज्य स्तरीय मास्टर ट्रेनर मन्सूर, सभी प्रखंडो से आए प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी, मनरेगा के बीपीओ, प्रखंड पंचायती राज पदाधिकारी, प्रखंड समन्वयक पंचायती राज, प्रखंड समन्वयक पेयजल एवं स्वच्छता प्रमंडल व अन्य उपस्थित थे।