दो मासूम बच्चियां बिकने से बची

खूंटी : जिले की दो नाबालिग मासूम बच्चियों को बिकने से बचा लिया खूंटी और रांची पुलिस की टीम। मामला खूंटी जिले के तोरपा प्रखंड क्षेत्र का है जहां की दो बच्चियों को बिरसा मुंडा नामक मानव तस्कर बहला फुसला कर दिल्ली ले जा रहा था लेकिन इसकी सूचना खूंटी पुलिस को मिल गई। सूचना पर कार्रवाई करते हुए एन्टी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट ( AHTU) की टीम ने रांची के तुपुदाना पुलिस के सहयोग से दोनों बच्चियों को सतरंजी बाजार से बरामद कर लिया जबकि आरोपी को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है।
जानकारी के अनुसार दोनों बच्चियों के माता पिता ने एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट को लिखित सूचना देकर बताया कि घर में उनकी बेटियां नहीं है। शिकायत मिलते ही पुलिस ने तत्काल कार्रवाई करते हुए दोनों बच्चियों को मुक्त कराया। फिलहाल दोनों बच्चियों को पुलिस ने मेडिकल कराकर सहयोग विलेज भेज दिया है। महिला थाना प्रभारी अजय शर्मा ने बताया कि परिजनों के लिखित शिकायत पर कार्रवाई की गई। परिजनों ने पुलिस को बताया कि वे राशन खरीदने जन वितरण प्रणाली दूकान गई थी लौटने पर दोनों बच्चियों को घर मे नही पाई। परेशान माता पिता मंगलवार शाम थाने को इसकी जानकारी दी। उसके बाद महिला थाना प्रभारी अजय शर्मा, महिला आरक्षी सुशीला केरकेट्टा के नेतृत्व में दल बल के साथ रांची खूंटी मार्ग पर चलने वाली सभी बसों की तलाशी अभियान शुरू किया। अभियान के दौरान रांची के तुपुदाना थाना के महिला पुलिस निरीक्षक संध्या तोपनो के सहयोग से सफलता मिली और आज दोनों नाबालिग सुरक्षित है।
पीड़िताओं के अनुसार बिरसा मुंडा रांची के लापुंग थाना क्षेत्र के डिम्बा गांव का निवासी है और कई दिनों से क्षेत्र में घूम रहा था। इसी दौरान बिरसा मुंडा नाबालिग के घर पहुंचा जहां वो दोनों बहनें अकेली थी जिसका फायदा उठाकर तस्कर बिरसा मुंडा बहला फुसला कर उसे अपने साथ दिल्ली ले जा रहा था। बिरसा मुंडा ने पुलिस को दिए अपने बयान में बताया कि खूंटी से रांची और रांची से बनारस होते हुए दिल्ली ले जाना था। फिलहाल आरोपी को पुलिस ने न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।