दो महिलाओं ने श्मशान घाट में मिट्टी का शव बनाकर दफनाया, आक्रोशित ग्रामीणों ने दोनो को बनाया बंधन

महेशपुर :थाना क्षेत्र के घाटचोरा कड़वा टोला में दो महिला द्वारा एक व्यक्ति का मिट्टी का शब् बनाकर शमशान घाट पर दफनाने से आक्रोशित ग्रामीणों ने दोनो महिला को बंधक बनाने का मामला प्रकाश में आया है l मामला बीते बुधवार की हैl
मामले को लेकर ग्रामीणों ने जानकारी देते हुये बताया कि गांव के रहने वाली दो महिला पाकलु मुर्मू और सोहागनी सोरेन बीते बुधवार की सुबह गांव के रहने वाले मंगल हेंब्रम का मिट्टी का मूर्ति बनाया और फिर उसे शब् के रूप में अंतिम संस्कार करने उसे खाट पर लिटाकर तथा लाल कपड़ा ढक दी गई फिर उस मुर्ति को खाट को कंधे पर लादकर पास के ही श्मशान घाट लेकर चली गयी और श्मशान घाट में दोनों महिला ने मंगल हेंब्रम के बनाए मिट्टी के शव को मंत्रोच्चारण के साथ दफना दिया गया जिसकी सुचना गांव के कुछ लोगों को मिली तो जाकर देखा की दोनों महिला द्वारा उक्त व्यक्ति का शब् दफनाने का कार्य करते हुए स्थानीय ग्रामीणो ने देखा.जिसके बाद दोनों महिला को ग्रामीणों ने पकड़ लिया और पूछा कि ये क्या कर रही थी. इस बात पर दोनों महिला ने कहा कि गांव के हमारे दुश्मन मंगल हेंब्रम और उसके पूरे परिवार के मृत्यु के लिए ये कार्य किया गया है l महिलाओं ने ये भी ग्रामीणों से कहा कि अब उसके पुरे परिवार की मौत हो जाएगी इस बात पर ग्रामीण आक्रोशित हो गये और गांव के शिक्षित लोगों ने मामले को शांत करवाते हुए ये अंधविश्वास कार्य करने के आरोप में दोनों महिला से 1 लाख रुपये की जुर्माना की| महिलाओं ने बैंक से पैसे निकाल कर देने की बात कही| ग्रामीणों ने दोनों महिलाओं को बुधवार की शाम तक पैसे देने की मोहलत दी थी परंतु महिलाओं ने अपनी चालाकी से बैंक के बहाने पंच से छुटकारा पाई और महेशपुर थाना पहुंच गई जहां घटना की पुरी जानकारी पुलिस को दी गयी|मामले को लेकर महेशपुर पुलिस घाटचोरा पहुंची.जहां ग्रामीणों ने महिलाओं के साथ पुलिस को देखकर और आक्रोशित हो गये और गिर आक्रोशित ग्रामीणों ने महिलाओं को फैसला न मानने तथा पुलिस को बुलाने से नाराज होकर दोनों महिला को बिजली के खंभे में रस्सी के सहारे बांध दिया|

मामला को गंभीर देख पुलिस हुई तैनात

वही मामले में ग्रामीणों को आक्रोशित देख महेशपुर पुलिस इसकी जानकारी महेशपुर एसडीपीओ नवनीत एंथोनी हेंब्रम को दी गयी| मामले की सुचना मिलने पर एसडीपीओ,नवनीत एंथोनी हेम्ब्रोम ,महेशपुर थाना प्रभारी सुनिल कुमार रवि,घटना स्थल पहुँचकर मामले की जानकारी लेते हुये पाकुड़िया थाना प्रभारी चंदन कुमार, अमड़ापाड़ा थाना प्रभारी मनोज कुमार, महेशपुर थाना से जेएसआई शुभम सिंह, टिंकू रजक समेत पुलिस बल को गांव में तैनात कर दिया गया और मामले को बिगड़ते देख एसडीपीओ ने सामाजिक कार्यकर्ताओं का सहारा लिया फिर मामले को शांत करवाने के लिए मांझी परगना लाहांती बैसी के जितेंद्र मुर्मू,कमला कांत मुर्मू एवं संथाल परगना जगवार बैसी के सचिदा मरांडी, अनील हेंब्रम समेत कई गांव से प्रधान को बुलाया गया |फिर मामले को लेकर सामाजिक कार्यकर्ताओं ने ग्रामीणों को शांत करवाया वही ग्रामीणो के मांग पर एक सुलहनामा पत्र लिखा गया| सुलहनामा पत्र में उल्लेख किया गया है कि दोनों महिला एक अंधविश्वास कार्य की है जो समाज में गलत संदेश देगा इसको देखते हुए दोनों महिलाओं से एक एक लाख रुपये का जुर्माना लिया जाएगा. वही फैसला के वक्त ही दोनों महिलाओं ने पंचो के समक्ष 20 हजार रुपये दिए.बाकि पैसे दिनांक 06/10/21 को देने की बात कही गयी.जिसके बाद ग्रामीण शांत हुए फिर बंधक बनाये गए दोनों महिलाओ को पुलिस द्वारा मुक्त कराया गया l