“सोना सोबरन धोती लुंगी एवं साड़ी योजना के तहत जिले के 2,15,000 लाभुकों को किया जा रहा है लाभान्वित

सरायकेला से भाग्य सागर सिंह की रिपोर्ट

सरायकेला। झारखंड राज्य की उप राजधानी दुमका से मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन द्वारा ऑनलाइन के माध्यम से पूरे राज्य में सोना सोबरन धोती/लुंगी एवं साड़ी योजना का विधिवत शुभारंभ किया गया। उक्त कार्यक्रम के पश्चात जिला स्तर पर सरायकेला टाउन हॉल में परिवहन मंत्री सह सरायकेला विधायक चम्पई सोरेन एवं अन्य जनप्रतिनिधियों उपायुक्त अरवा राजकमल व वरीय पदाधिकारियों की उपस्थिति में सोना सोबरन धोती/लुंगी एवं साड़ी योजना का विधिवत उद्घाटन दीप प्रज्वलित कर किया गया। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मंत्री चम्पाई सोरेन ने कहा कि ग्रामीणों के सर्वांगीण विकास को लेकर राज्य सरकार द्वारा कई कल्याणकारी योजनाओं का क्रियान्वयन किया जा रहा है। साथ ही जिला प्रशासन द्वारा पूरी तत्परता के साथ धरातल पर योजनाओं का सफल संचालन किया जा रहा है। जिसका लाभ जिलेवासियों को मिल रहा है। राज्य सरकार द्वारा ग्रामीणों को कपड़े की पूर्ति हेतु “सोना सोबरन धोती लुंगी एवं साड़ी योजना की शुरुवात की गई है। जिसका लाभ जिले के अति उग्रवाद/सुदूरवर्ती एवं ग्रामीण क्षेत्रों में निवास करने वाले सभी पात्र लाभुकों को मिल रहा है। सभी योग्य राशन कार्डधारियों को इस योजना से लाभान्वित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार का मुख्य उद्देश्य है यहां के नौजवानों को रोजगार उपलब्ध कराना इस दौरान उन्होंने बताया कि सेकंड लॉकडाउन में मिनी लॉकडाउन लगाकर सरकार का गाइडलाइंस का पालन करते हुए जिस प्रकार सभी कार्य को पूर्ण किया गया है वह राज्य सरकार का कार्य सराहनीय है। खरसावां विधायक दशरथ गागराई ने कहा सरकार का उद्देश्य इस योजना से जन जन तक लाभ पहुंचना है। ताकि कोई भी व्यक्ति अपने मूलभुत जरूरतों से वंचित ना रहे।
विधायक पूर्णिमा नीरज सिंह ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुये बताया कि सरकार का मुख्य उद्देश्य लोगों को बुनियादी सुविधा प्रदान करना है। ताकि एक बेहतर जीवन जी सके एवं भविष्य में सरकार की सभी योजनाओं का लाभ ले सके। उन्होंने बताया कि सभी योग्य लाभुक अपने नजदीकी प्रखंड कार्यालय में संपर्क कर सरकार की मूलभूत योजनाओं का लाभ ले सकते हैं।
उपायुक्त अरवा राजकमल ने कहा अति उग्रवाद/सुदूरवर्ती एवं ग्रामीण क्षेत्रों में निवास करने वाले राशन कार्डधारियों को लाभान्वित करने के उद्देश्य से राज्य सरकार द्वारा इस योजना का कार्यान्वयन किया जा रहा है। इसी क्रम में खाद्य, सार्वजनिक वितरण एवं उपभोक्ता मामले विभाग, झारखंड के द्वारा जिले के लक्षित जन वितरण प्रणाली के अंतर्गत राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम से आच्छादित पात्र गृहस्थ एवं अंत्योदय परिवारों को धोती, लुंगी एवं साड़ी का वितरण किया गया। उपायुक्त ने कहा कि जिले के सुदूरवर्ती क्षेत्रों में निवास करने वाले लाभुकों के जीवन स्तर में सुधार हेतु धोती, साड़ी एवं लुंगी का वितरण किया जा रहा है। योजना के अंतर्गत राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम से आच्छादित गरीबी रेखा से नीचे सभी परिवारों छ: माह के अंतराल पर 1 वर्ष में दो बार धोती/साड़ी एवं लुंगी प्रति परिवार 10 रुपए प्रति की अनुदानित दर पर दी जा रही है। सभी 1,28,981 लाभुकों के बीच धोती/ 2,14,972 लाभुकों के बीच साड़ी एवं 85,991 लाभुकों के बीच लुंगी का वितरण जन वितरण प्रणाली के अंतर्गत संधारित ई-पॉश मशीन के माध्यम से उपलब्ध कराया जा रहा है। इसके अलावा सभी प्रखंडों में ग्रामीणों के समस्याओं एवं शिकायतों के निवारण को लेकर शिकायत निवारण प्रणाली बनाई जाएगी। जहां दूरदराज से आए ग्रामीणों के समस्याओं का निष्पादन किया जाएगा। उन्होंने कहा जिले के विकास हेतु राज्य सरकार द्वारा कई कल्याणकारी योजनाओं का संचालन किया जा रहा है। ताकि जिलेवासियों को सभी योजनाओं का लाभ दिया जा सकें। इस अवसर पर आइटीडीए निदेशक संदीप कुमार दोराइबुरु, अपर उपायुक्त सुबोध कुमार सहित सभी विभागीय पदाधिकारी भी अवस्थित थे।