मोबाइल वाहन के जरिये ग्रामीण इलाकों में वैक्सीनेशन कल से : उपायुक्त

– तत्काल 45 + वालों के लिए शुरू किया जा रहा है अभियान

– कोरोना का दोनों डोज टीका लगवाने वाले बीपीएल परिवारों को दी जाएगी लोहे की कढ़ाई
अभय पलिवार की रिपोर्ट
गोड्डा: कोरोना वैक्सीनेशन की गति में तेजी लाने के लिए शुक्रवार से ग्रामीण इलाकों में मोबाइल वाहन जाएगा। मोबाइल वाहन के माध्यम से 45 +उम्र वाले लोगों का टीकाकरण किया जाएगा। प्रशासनिक स्तर से इसकी तैयारी पूरी कर ली गई है। यह जानकारी गुरुवार को आयोजित ऑनलाइन प्रेस कॉन्फ्रेंस में उपायुक्त भोर सिंह यादव ने दी।
श्री यादव ने बताया कि वैसे सभी प्रखंडों एवं पंचायतों में, जहां लगभग 50 व्यक्ति टीकाकरण के लिए स्वत: इच्छुक होंगे, वहां टीकाकरण के लिए मोबाइल वाहन भेजा जाएगा। चिन्हित किए गए प्रखंडों एवं पंचायतों में वरीय पदाधिकारियों सहित संबंधित प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं प्रधान कार्यकारी समिति (मुखिया)के माध्यम से मोबाइल वैक्सीनेशन टीम के द्वारा वैक्सीन लगाने का कार्य प्रारंभ किया जाएगा। इसके लिए संबंधित पदाधिकारियों को आवश्यक एवं उचित दिशा निदेश दिया गया है।
मोबाइल वैक्सीनेशन टीम के साथ कंप्यूटर ऑपरेटर एवं आवश्यक संसाधन उपलब्ध रहेंगे, जिससे वैक्सीनशन के कार्य में किसी भी प्रकार की परेशानी उत्पन्न न हो। जहां कहीं भी स्थानीय जनप्रतिनिधि, प्रधान कार्यकारी समिति (मुखिया) , ग्राम प्रधान, पीडीएस डीलर अथवा अन्य किसी व्यक्ति के सहयोग से कम से कम 50 व्यक्ति एकत्र करके रखें जाएंगे, वहां भी मोबाइल टीम के द्वारा वैक्सीन लगाने का कार्य किया जाएगा। लोगों को जागरूक करने के लिए विभिन्न खेल संगठनों आदि की टीम क्षेत्र में बढ़िया काम कर रही है।
उपायुक्त श्री यादव ने कहा ग्रामीण क्षेत्रों में कतिपय भ्रांतियों के कारण लोग टीकाकरण नहीं करा रहे हैं अथवा एक टीका लेने के पश्चात दूसरा टीका समय पर नहीं ले रहे हैं। टीकाकरण कार्य में तेजी लाने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में भ्रमण कर नागरिकों को जागरूक व प्रेरित करने की आवश्यकता है। उक्त कार्यों को लेकर टीम का गठन किया गया है। टीम अपने-अपने आवंटित प्रखंड अंतर्गत पंचायतों में क्षेत्र भ्रमण कर कोविड-19 टीकाकरण कार्य की प्रगति की जांच करेगी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों में फैली टीकाकरण के संबंध में भ्रांतियों को दूर करने हेतु जागरूक करेगी, ताकि अधिक से अधिक लोग टीकाकरण करा सकें।
इन्होंने कहा कि वैक्सीनेशन को लेकर लगातार जिला प्रशासन के द्वारा कैंपेन चलाए जा रहे हैं। गोड्डा शहरी क्षेत्र के विभिन्न वार्डों एवं शहर से सटे ग्रामीण इलाकों में डोर टू डोर वैक्सीनेशन को लेकर जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है, ताकि अधिक से अधिक संख्या में लोग वैक्सीनेशन प्रक्रिया में भाग लें। उक्त कार्यों में रेडक्रॉस सोसायटी, विभिन्न खेल संघ, नेहरू युवा केन्द्र सहित अन्य से सहयोग भी लिया जा रहा है।
उपायुक्त ने जानकारी दी कि वैक्सीन का वेस्टेज इस जिले में बिल्कुल भी नहीं किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग के द्वारा वेस्टेज को लेकर काफी सतर्कता बरती जा रही है।
सिविल सर्जन डॉ शिव प्रसाद मिश्रा ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के द्वारा वैक्सीन का वेस्टेज बिल्कुल भी न हो इसपर हम लगातार कार्य कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि इस जिला में वैक्सीन का जितना डोज उपलब्ध कराया गया है, उससे अधिक लोगों को वैक्सीनेशन किया गया है। बताया कि एक वाइल में 10 लोगों को वैक्सीन देना है, लेकिन इस जिले में 11 लोगों तक को वैक्सीनेट किया जा रहा है। सिविल सर्जन के अनुसार इस जिला में एक लाख 18 हजार 260 लोगों के वैक्सीनेशन के लिए मिले डोज से एक लाख 18 हजार 803 लोगों को टीका लगाया गया है।
उन्होंने कहा कि 18+ के सभी लोग वैक्सीन का टीका अवश्य लगाएं। अगर हमारे परिवार में सभी लोग कोरोना का टीका लगाएंगे तो हमारे घर के जो छोटे बच्चे हैं वह स्वतः सेफ हो जाएंगे। साथ ही सिविल सर्जन ने कहा जिन लोगों ने जिस वैक्सीन की (कोविशिल्ड या कोवैक्सीन) पहली डोज ली है वे उसी वैक्सीन की दूसरी डोज भी लें। उदाहरण के तौर पर उन्होंने बताया कि जिन्होंने पहला डोज कोविशिल्ड का लिया है तो दूसरा डोज कोवैक्सीन का न लें। दूसरा डोज कोविशिल्ड का ही लें।

परिवार के सभी सदस्यों को टीका लगने पर दी जाएगी लोहे की कढ़ाई: डीडीसी

उप विकास आयुक्त अंजलि यादव ने कहा कि जिले में कोरोना संक्रमण को लेकर वैक्सीनशन की प्रक्रिया विभिन्न प्रखंडों में एवं पंचायत स्तर पर लगातार कराए जा रहे हैं। जिनके लिए स्थानीय जनप्रतिनिधि, प्रधान कार्यकारी समिति (मुखिया) , ग्राम प्रधान एवं पीडीएस डीलर के माध्यम से जागरूकता फैलाई जा रही है, ताकि अधिक से अधिक संख्या में लोग जागरुक होकर वैक्सीनेशन के लिए आगे आएं। उन्होंने कहा कि मोबाइल वैक्सीनेशन टीम के द्वारा ज्यादा से ज्यादा लोगों को कोरोना का टीका मिले, इस पर भी हम कार्य कर रहे हैं।
श्रीमती यादव के द्वारा बताया गया कि कोविड वैक्सीनेशन को लेकर एनजीओ की भी मदद ली जा रही है जिनको लेकर सभी प्रखंडों में डाटा तैयार किए जा रहे हैं।
उप विकास आयुक्त श्रीमती यादव ने कहा कि ऐसे सभी बीपीएल परिवार जो 18+ एवं 45+ हैं, कोरोना का टीका लेने के योग्य हैं, वैसे बीपीएल परिवारों के 18+ एवं 45+ के सदस्यों ने कोरोना का टीका दोनों डोज ले लिया है उन्हें जिला प्रशासन के द्वारा लोहे की कढ़ाई दिया जाएगा। मौके पर जिला जनसंपर्क पदाधिकारी अभय कुमार भी मौजूद थे।