विभागीय उदासीनता के कारण दर्जनों सरकारी भवन वर्षों से मयूरहंड में पड़े हैं अधूरे, विभाग मौन

मयूरहंड(चतरा)हिमांशु सिंह। जिले के मयूरहंड प्रखंड में विभागीय उदासीनता के कारण हो रहा है सरकारी राशि का दुरुपयोग। स्थिति ऐसी है कि प्रखंड़ में सरकारी उदासीनता के कारण कई विभागों से करोड़ों की लागत से बनने वाले दर्जनों भवन का निर्माण कार्य वर्षों से अधुरा पड़ा है। जिसमें शिक्षा विभाग, बिल्डींग डिवीजन, जिला परिषद सहीत और कई विभाग शामिल हैं। उदाहरण स्वरुप प्रखंड़ क्षेत्र के बेलखोरी व सोकी पंचायत में विद्यालय भवन वर्षों से अर्धनिर्मित है। पर विभाग द्वारा इसे पूरा करने के लिए पहल नही की गई। जबकि विभाग द्वारा विद्यालय निर्माण की सारी राशि ग्राम शिक्षा समिति के खाते में भेज दी जाती थी। वहीं मंधनिया में उप स्वास्थ्य केन्द्र व पंदनी पंचायत सचिवालय वर्षों से अधुरा हुआ है। सभी भवनों का निर्माण कार्य प्रारंभ वर्ष 2006/07 से 2012/13 में की गई थी। वहींे लंबे समय बीतने पर भी संबंधित विभाग द्वारा योजनाओं को पूर्ण करवाने की पहल नही की गई। से में प्रतित होता है कि संबंधित विभाग के पदाधिकारी कार्य के प्रति कितने संवेदनशील हैं। पंदनी पंचायत सचिवालय निर्माण कार्य संवेदक द्वारा निर्धारित समय से दो मंजिला इमारत ढलाई तक कर दिया गया। परंतु विभाग द्वारा भुगतान नहीं करने के कारण अधर में लटका हुआ है। ऐसे दर्जनों अधुरा भवन मयूरहंड प्रखंड के विभिन्न पंचायतों में देखने को मिल जाएगा जो पूर्ण हुए नही पर कभी भी धाराशाई हो सकते हैं।