विचारों को सशक्त रुप से प्रस्तुत करने की आदत डालनी चाहिए : राहुल मुर्मू

रामगोपाल जेना
चाईबासा:हमें संकोच को दरकिनार कर स्वयं को और अपने विचारों को सशक्त रुप से प्रस्तुत करने की आदत डालनी चाहिए। इसके लिए लगातार अवसर बनाने की आवश्यकता है।ये बातें मसकल लाइब्रेरी,कमारहातु में बतौर मोटिवेटर युवा विद्यार्थियों को पढ़ाई के प्रति हमेशा जागरूक रहने और आकर्षक व्यक्तित्व निर्माण की सलाह देते हुए सब-इंस्पेक्टर राहुल कुमार मुर्मू ने कहा।उन्होंने विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि हमारा व्यक्तित्व ऐसा होना चाहिए कि हम सामने वाले के लिए आदर्श की तरह लगे।ये‌ सारी चीजें लगातार पढ़ाई से जुड़े रहने और स्वयं को प्रस्तुत करते रहने से विकसित किया जा सकता है।सब-इंस्पेक्टर मुर्मू ने कहा कि जीवन में पढ़ाई करने,धन कमाने और मित्र बनाने का विशेष काल‌ रहता है।उस काल में ये सारी चीजें नहीं कर पाए तो जीवन के अंतिम काल में कुछ नहीं हो सकता है। इसलिए हमें जीवन के हर अध्याय का भरपूर सदुपयोग करना चाहिए तब ही हम सफल जीवन जीने के काबिल बन पाएंगे। उन्होंने कहा कि हम कभी भी नशा को अपनी जिंदगी का हिस्सा नहीं बनाएं।अगर नशा को जीवन का हिस्सा बनाएंगे तो यह समाज का आवश्यक अंग बन जाएगा।चूंकि हम ही से समाज का निर्माण होता है। लिहाजा समाज के निर्माता को नशा से दूर रहना चाहिए।उन्होंने कहा कि हमारे पूर्वज काफी बलशाली रहे होंगे,तब ही अंग्रेजों को यहां से वापस जाने के लिए मजबूर होना पड़ा। हमें अपने पूर्वजों का मजबूत इरादों वाली विरासत को कायम रखने की आवश्यकता है।तब ही अगली पीढ़ी के लिए हम ऊंचे आदर्श छोड़ सकेंगे।उन्होंने युवाओं को मन में सदा ऊंचा सोच रखने का सलाह दिया।
इससे पूर्व श्री मुर्मू का मतकमहातु पंचायत के निवर्तमान उपमुखिया जुलियाना देवगम की अगुवाई में कमारहातु के युवा विद्यार्थियों एवं मसकल फाउंडेशन के सदस्यों द्वारा पारंपरिक रीति से तुलसी जल छिड़क कर तथा बुके देकर गर्मजोशी से स्वागत किया गया।
इस दौरान सब-इंस्पेक्टर मुर्मू ने युवाओं के पढ़ाई से संबंधित कई सवालों के जवाब भी दिया।
मौके पर मुर्मू ने मसकल लाइब्रेरी में रखी पुस्तकों का अवलोकन किया और उपयोगी पुस्तकें देखकर लाइब्रेरी का नींव रखने की सोच का सराहना किया।
मौके पर रांधो देवगम,सोमय देवगम,सामु देवगम,कृष्णा देवगम,सुरजा देवगम,तुराम देवगम,अर्जुन देवगम,धर्मेन्द्र देवगम,जयश्री तियू,क्रिस्टिना देवगम, मंगल सिंह तियू,राउतु सिंकू,सचिन देवगम,दीपिका देवगम,कल्पना देवगम,संगीता देवगम,नम्रता देवगम,रजनी देवगम,बसंती देवगम,दीपक बलमुचु समेत काफी संख्या में विद्यार्थी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *