मुआवजे की मांग को लेकर ग्रामीणों ने किया सड़क जाम

लिट्टीपाड़ा:  मुआवजे की मांग को लेकर छुरिधारी के ग्रामीणों ने शुक्रवार को लिट्टीपाड़ा थाना के समक्ष साहेबगंज गोविंदपुर एक्सप्रेस हाइवे को जाम किया। जिसका नेतृत्व मुखिया माड़ी पहाड़ीन ने किया! मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार को करमाटांड़ पँचायत क्षेत्र के छुरिधारी गाँव निवासी सामु पहाड़िया के पत्नी बामनी पहाड़िन की मौत गुरुवार को अडानी कम्पनी के ट्रेक्टर से ठोकर लगने से हो गया था।पर मृतिका के श्राद्ध कर्म के लिए कोई सहयोग राशि नही मिलने की वजह से परिजन व ग्रामीण शुक्रवार को थाना पहुँचा था। थाना से मुवाज़ा की राशि नही मिलने की खबर सुनकर ग्रामीण उग्र होकर थाने के सामने ही मुख्य सड़क पर बैठ गया। जिसके कारण सड़क जाम हो गया और आवागमन घण्टो बाधित हो गया।सूचना मिलते ही अंचलाधिकारी सह बीडीओ संजय कुमार ने अंचल निरीक्षक रणजीत दास व प्रखण्ड कृषि पदाधिकारी केसी दास को श्राद्धकर्म के लिए 10 हजार रुपये का चेक प्रदान के लिए जाम स्थल भेजा। अंचल निरीक्षक रणजीत दास ने ग्रामीणों को बताया तत्काल श्राद्धकर्म के लिए 10 हजार दिया जा रहा है।आदिम जन जाति का दुर्घटना में मौत होने पर सरकार एक लाख रुपये देती है। जैसे ही मृत्यु प्रमाण पत्र के साथ आवेदन परिजन प्रखण्ड कार्यालय में जमा करेंगे। मुवावजे की राशि एक लाख देने के लिए प्रकिर्या पूरी होने के पश्चात भुगतान किया जाएगा।मृतिका के पति सामु पहड़िया को चेक मिलते ही ग्रामीण सड़क जाम को खत्म कर दिया। वही एसआई मिंटू भारती ने बताया कि वाहन के अज्ञांत चालक के खिलाप मामला दर्ज कर लिया गया है।जिसकी जांच की जा रही है।चालक के नाम का पता चलते ही ग्रिफ्तार कर जेल भेज दिया जाएगा। वही सड़क जाम में मौके पर जबरा पहाड़िया ,धर्मा पहाड़िया,चांदु पहाड़िया, रामा पहाड़िया, सुरजा पहाड़िया ,काटो पहाड़िया सहित सैकड़ों ग्रामीण मौजूद थे!  वही जाम स्थल भाजपा नेता दानिएल किस्कू पहुंचे ओर ग्रामीणों से वार्ता किया !साथ ही कहा कि क्षेत्र में बिना नंबर की गाड़ियां चलती है कहीं न कहीं क्षेत्र में भ्रष्टाचार को बढ़ावा दे रही है तस्करी को बढ़ावा दे रही है !अभी भी इस क्षेत्र में अडानी पावर प्लांट के हाई वोल्टेज के तार को पार करने के लिए बड़े बड़े पेड़ों की कटाई कर ले जाया जा रहा है लेकिन उनके ढुलाई में ऐसे ऐसे ट्रैक्टर को लगाया गया है जिनका नंबर नहीं है, वनों में लकड़ी की कटाई हो रही है वैसे लकड़ी की ढुलाई हो रही है! नियम को ताक में रखकर काम किया जा रहा है! जिससे जानमाल की क्षति हो रही है! प्रशासन को इस पर कड़े कदम उठाने की जरूरत है!