क्रिश्चियन धर्म के प्रचार प्रसार करते चार लोगों को ग्रामीणों ने पकड़ा

हिंदू समाज के समझाने से सभी लोगों ने लोटा अपना घर

बरही से बिपिन बिहारी पाण्डेय

बरही : पूरे झारखंड के साथ- साथ बरही में भी इन दिनों मिशनरियों की ओर से धर्मांतरण का खेल बहुत जोरों से चल रहा है। लेकिन इनके खेल को बिगाड़ने के लिए विभिन्न हिंदू संगठन सक्रिय हो गए हैं। मंगलवार को बरही के बेन्दगी गांव में क्रिश्चियन धर्म के प्रचार प्रसार के लिए प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया था। जिसकी जानकारी स्थानीय हिंदू समाज के लोगों को होने पर त्वरित उस प्रार्थना सभा में पहुंचे, और प्रचार प्रसार करा रहे लोगों को पकड़ा। जिसके बाद हिंदू समाज के लोगों ने विहिप के कार्यकर्ताओं को सूचना दिया। सूचना पाते ही विहिप के कार्यकर्ता मौके पर पहुंची और प्रार्थना सभा में आए हिन्दू लोगों को समझाया और सनातन धर्म के बारे में विस्तृत जानकारी दिया। उसके बाद हिंदू समाज के ग्रामीणों एवं विहिप के कार्यकर्ताओं के समझाने बुझाने के बाद उक्त सभी गलती को स्वीकार करते हुए वापस अपने घर लौट गए। वहीं कहा कि हम लोग हिंदू हैं और अपने हिंदू धर्म को कभी भी नहीं छोड़ सकते। वहीं पकड़े गए चार लोगों ने लिखित शपथ पत्र उपस्थित ग्रामीणों व विहिप के कार्यकर्ताओं के समक्ष सौंपा। शपथ पत्र में कहा कि कभी भी अब क्रिश्चियन धर्म का सत्संग करने नहीं जाऊंगा। मुझे और मेरी पत्नी को प्रलोभन दिया गया कि क्रिश्चियन धर्म में सत्संग करने से सारी बीमारी ठीक हो जाती है। मैं और मेरी पत्नी घर वापसी करते हुए क्रिश्चियन धर्म में नहीं जाने का वचन देता हूं। मौके पर रघुनंदन यादव, दिनेश साव, मनोज कुमार साव, सहदेव यादव, दिलीप रजक, शंकर यादव, संजय कुमार, रोशन कुमार आदि हिंदू समाज के ग्रामीण सहित विश्व हिंदू परिषद के जिला सह मंत्री गुरुदेव गुप्ता, प्रखंड अध्यक्ष नंद किशोर कुमार, महामंत्री कैलाश ठाकुर आदि उपस्थित थे।

धर्मान्तरण करवाने वालों का खेर नहीं है- वहीं विहिप जिला सहमंत्री गुरुदेव गुप्ता ने कहा कि बरही में मिशनरियों के मिशन को कामयाब नहीं होने दिया जाएगा। लोभ लालच के बल पर हमारे हिंदू भाइयों को बहला-फुसलाकर धर्मांतरण करवा रहे हैं जो कहीं से भी उचित नहीं है। वही चेतावनी देते हुए कहा कि यदि अब से कोई भी धर्मांतरण करवाते हुए पकड़ा जाएगा तो उसे पुलिस के हवाले करते हुए जेल भिजवाने का काम करेंगे।