नक्सलियों के कहने में ना आयें ग्रामीण: एसपी

गुमला : गुमला के पुलिस अधीक्षक हृदीप पी जनार्दनन ने कहा है कि नक्सली, उग्रवादी व अपराधियों की कोई जात व धर्म नहीं होती है. ये लोग सिर्फ अपने बारे में सोचते हैं. ये लोग अपने गांव-घर व समाज के लिए खतरा है. इसलिए ऐसे लोगों को खुलेआम घूमते हुए छोड़ नहीं सकते. इन नक्सलियों को या तो मारना पड़ेगा. या फिर पकड़कर जेल भेजना पड़ेगा. इसलिए ग्रामीणों से अपील है. नक्सलियों के कहने में नहीं आये. एसपी शुक्रवार को चैनपुर प्रखंड के घोर नक्सल प्रभावित गांवों का दौरा कर रहे थे. साथ में सीआरपीएफ के कमांडेंट अनिल मिंज, एसपी अभियान बीके मिश्रा, सीआरपीएफ के जवान तथा पुलिस के जवान शामिल थे. पुलिस अधिकारियों ने कटकाही, जनावल, नवगाई, सिरासीता, आकाशी, टाटी, डुमरी गांव का दौरा किये. ये सभी उग्रवाद क्षेत्र है. अभी दो दिन पहले नवगाई में जेजेएमपी के उग्रवादियों ने डैम निर्माण स्थल पर उत्पात मचाया था. दौरा के क्रम में एसपी इन गांवों के ग्रामीणों से रूबरू हुए. गांव में बैठक किये. ग्रामीणों से नक्सलियों की सूचना देने की अपील की. मौके पर युवाओं को खेल सामग्री, छात्रों का बैग व वृद्धों को धोती, लुंगी व साड़ी का वितरण किया गया. एसपी ने युवाओं से कहा कि आप खेल के क्षेत्र में अपनी प्रतिभा के बूते आगे बढ़ने का प्रयास करे. अगर कहीं जरूरत है तो आप पुलिस से मदद लें. पुलिस आपकी सेवा में सदा तत्पर है. वहीं बच्चों से पढ़ने लिखने के लिए कहा. एसपी ने कहा कि खाली समय व खाली दिमाग शैतान का होता है. इसलिए आप युवा व छात्र हर समय आगे बढ़ने व पुस्तकों का अध्ययन करें. खेल का लगातार अभ्यास करें. मां-पिता के साथ खेतों में हाथ बंटाये. आप कृषि के क्षेत्र में भी बेहतर कर सकते हैं. जरूरत है. आप अपने माता पिता के साथ रहकर खेतीबारी का हुनर सीखे. जिससे आप कृषि के क्षेत्र में क्रांति लाते हुए एक बेहतर कृषक बन सके.