वित्त मंत्री के सचिव से मिलकर प्राथमिक शिक्षक संघ ने कहा-शिक्षकों को राशन कार्ड जांच से करें विमुक्त

लोहरदगा: आज लोहरदगा विधायक सह झारखंड सरकार के मंत्री रामेश्वर उरांव के प्राइवेट सचिव निशीथ जायसवाल के साथ झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ लोहरदगा जिला के प्रधान सचिव किशोर कुमार वर्मा ने मिलकर शिक्षकों को राशन कार्ड जांच से विमुक्त करने एवं कोराना संबंधी आवश्यक कार्यों में 50 वर्ष से ऊपर के शिक्षकों की प्रतिनियुक्ति नहीं की जाय और अत्यावश्यक हो तो कोराना वारियर्स के तहत सारी सुविधा के साथ बीमा कराया जाय आदि मांग वर्मा ने मंत्री के प्रतिनिधि के समक्ष रखी ! साथ ही वर्मा ने जानकारी दिए की विगत 35 वर्षो से जिला में प्रोन्नति नहीं मिला है विगत 2 वर्षो से वेतन सरंक्षण के नाम पर सैकड़ों शिक्षकों के साथ अन्याय किया जा रहा है और जूनियर /समकक्ष शिक्षकों के बराबर सीनियर शिक्षकों को वेतन सरंक्षण का लाभ जिला पदाधिकारी नहीं देकर मानसिक तनाव एवं केवल दण्डित करने का प्रयास कर रहे हैं:!शिक्षक को एक एक दिन का वेतन लंबित रख कर शिक्षकों को प्रताड़ित किया जा रहा है:!जिससे जिला के शिक्षक काफी उपेक्षित और मानसिक तनाव में शिक्षण कार्य कर रहे है:!अभी वर्तमान में भी शिक्षकों को एक साथ कई कार्य करना पड़ रहा है :;ऑनलाइन स्टडी,पीडीएस दुकानों में, घर घर korona सर्वेक्षण कार्य,रेलवे में, तथा उड्डयन यातायात आदि व्यवस्था में कार्य कर रहे हैं:और अब घर घर राशन कार्ड जांच में:;!जिससे भी शिक्षक काफी अपने को आहत महसूस कर रहे हैं:!शिक्षकों को केवल शिक्षा देने का ही कार्य करने दिया जाय;!
इस पर विधायक सह झारखंड सरकार के वित्त सह खाद्य आपूर्ति विभाग के मंत्री के प्राइवेट सचिव श्री निशीथ जायसवाल ने शिक्षकों से आग्रह किया कि वर्तमान परिवेश में सरकार के समक्ष बहुत परेशानी है और इस वैश्विक महामारी में लॉक डाउन में सभी की सामूहिक जिम्मेवारी होने पर ही सरकार बेहतर जनभागीदारी का कार्य कर सकती है:; जो भी व्यक्ति सक्षम है वैसे कार्डधारी स्वेक्षा पूर्वक से अपना राशन कार्ड विभाग को वापस देते है तो गरीब असहाय और जरूरतमंद लोगों को राशन उपलब्ध कराया जा सकेगा:!शिक्षक को राष्ट्रनिर्माता की संज्ञा दिया जाता है समाज को बदलने और व्यक्ति को बदलने की शक्ति होती है तो ऐसे समय में जबकि अभी स्कूल खुले नहीं है यदि गरीबों के कल्याण हेतु कार्य करेंगे तो गरीबों का आशीर्वाद प्राप्त होगा चूंकि शिक्षक ही एक ऐसे योद्धा होते है जो अपना कार्य इमानदारी से करते है इसीलिए सरकार आप पर विश्वास और भरोसा करती है :;!साथ ही अन्य समस्यायों पर जायसवाल ने कहा कि शिक्षकों का अधिकार मिलना ही चाहिए वेतन सरंक्षण का लाभ हो या प्रोन्नति का मामला सबका निपटारा किया जाएगा :;और शिक्षकों को भयभीत होने की आवश्यकता नहीं है न ही मनोबल नीचे होने दिया जाएगा आप निश्चित रहे मंत्री महोदय तक बात पहुंच चुकी है महामारी और लॉक डाउन के समाप्त होते ही शिक्षकों कि सारी समस्या का निदान कराया जाएगा !

इस अवसर पर संतोष महतो,ज्योतिष केशरी, माजिद अंसारी,इरशाद अंसारी,आजाद खान,असलम आदि उपस्थित थे :!