“दृष्टि दिव्यांग छात्रों के लिए उच्च शिक्षा ” विषय पर वेबिनार का हुआ आयोजन

रांची: दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग, सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय, भारत सरकार के अंतर्गत कार्यरत समेकित क्षेत्रीय केंद्र (सी आर सी) रांची , झारखंड के तत्वावधान व स्वामी विवेकानंद राष्ट्रीय पुनर्वास, प्रशिक्षण एवं अनुसंधान संस्थान, कटक के सहयोग से”दृष्टिदिव्यांग छात्रों के लिए उच्च शिक्षा “विषय पर आज एक वेबीनार का आयोजन किया गया l

इस कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के तौर सौरभ राय जो कि जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय नई दिल्ली के सहायक प्राध्यापक है और स्वयं दृष्टिबाधित हैं ने बताया कि दृष्टिबाधित एवं दिव्यांग छात्र छात्राओं के लिए उच्च शिक्षा के विभिन्न कानूनी प्रावधानों क्या है, साथ ही साथ वेबिनार मे पाठ्यक्रम और पठन-पाठन से जुड़ी विभिन्न आयामों की जानकारी प्रदान की गई। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) के द्वारा देश के सभी विश्वविद्यालयों को जारी दिशानिर्देश एवं योजनाओं के बारे में भी जानकारी दी गई जो दिव्यांग छात्र छात्राओं के शिक्षण एवं सुगमता हेतु बनाई गई है।
मुख्य वक्ता व अन्य ने प्रतिभागियों को बताया कि दिव्यांग छात्र छात्राओं को उनके द्वारा केंद्र एवं राज्य सरकार के माध्यम से चिन्हित किए गए नौकरियों में मांगी गई योग्यताओं के अनुसार शिक्षण दिया जाए तो उन्हें नौकरियां पाने में और आसानी होती है साथ ही साथ निजी क्षेत्र में भी जो कार्य दिव्यांग जनों के लिए योग्य माने जाते हैं उनके उन्हें शिक्षा एवं प्रशिक्षण देने से उन्हें स्वालंबन में सुविधा होती है।

कार्यक्रम SVNIRTAR के निदेशक डॉ एस पी दास के निर्देशन,नोडल अधिकारी श्री प्रमोद तिग्गा के सहयोग और श्री जीतेंद्र यादव निदेशक सी आर सी रांची के संयोजन में आयोजित किया गया l कार्यक्रम मे सी आर सी रांची से श्रीमती प्रीति तिवारी (सहायक प्राध्यापक -विशेष शिक्षा ) श्री राजेश रंजन, व्याख्याता (पीटी), श्री सतीश कुमार (पी एंड ओ), श्री जॉन रॉबर्ट पिट्टा (W / S पर्यवेक्षक) CRC रांची ने भी सहयोग प्रदान किया।
कार्यक्रम मे 65 दिव्यांग जन व व्यवासायिकों ने सहभाग किया!