चाचा-भतीजे के शव पहुंचते ही गांव में मातम,सभी की आंखें हुई नम

एक साथ निकली चाचा भतीजे की अर्थी

बरही से बिपिन बिहारी पाण्डेय

बरही (हजारीबाग) : पिछले दिनों रामगढ़ में हुई सड़क हादसे में बरही के पंचमाधो कोलंगा गांव के 32 वर्षीय राजू यादव व 20 वर्षीय रंजीत यादव की मौत से बरही में शोक की लहर है। उक्त दोनों मृतक चाचा भतीजे हैं। पोस्टमार्टम के बाद सोमवार सुबह में चाचा व भतीजे का शव आते ही पूरा में गांव मातम छा गया। इस हृदय विदारक घटना के बाद पूरा गांव सदमें में है। परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है वहीं सभी की आंखें नम। शवयात्रा में भारी संख्या में ग्रामीण शामिल हुए। उक्त चाचा भतीजे काफी गमगीन माहौल में दाह संस्कार किया गया। बताया जाता है कि उक्त दोनों चाचा भतीजा काफी सामाजिक एवं मिलनसार स्वभाव के थे। लोगों ने इसे अपूरणीय क्षति बताई। बता दे कि बरही के पंचमाधव पंचायत के कोलंगा गांव निवासी बालकी यादव का 32 वर्षीय पुत्र राजू यादव व खिरोधर यादव का 20 वर्षीय पुत्र रंजीत यादव की मौत रामगढ़ घाटी में ट्रक पलटने से हो गई थी। बताया जाता है कि पिछले शनिवार रात्रि रांची से तार का बंडल लोड कर रांची से बरही आने के क्रम में रामगढ़ घाटी में ट्रक संख्या आरजे 19 जीडी 5357 पलट गया। उक्त ट्रक को ट्रक मालिक सह चालक राजू यादव चला रहे थे, वहीं उनका भतीजा रंजीत यादव उस ट्रक में बैठे थे। शवयात्रा में विधायक प्रतिनिधि विनोद यादव, रघुनन्दन गोप, भाजपा जिला उपाध्यक्ष रमेश ठाकुर, सांसद प्रतिनिधि गणेश यादव, रितेश गुप्ता, मुखिया हरेंद्र गोप, धीरेंद्र कुमार यादव, कांग्रेस नेता मनोहर यादव, वीरेंद्र यादव, समाजसेवी विपिन विहारी पांडे, वीरेंद्र सिंह, महादेव गोप, चंदर यादव, मनोज दुबे, लक्ष्मीकांत विद्यार्थी, जितेंद्र यादव, सूर्यकांत राही, सुरेश यादव, धीरेंद्र यादव, बालेश्वर यादव, कपिल देव राणा, अरविंद शर्मा, यशवंत यादव आदि भारी संख्या में ग्रामीण शामिल हुए।