जंगली हाथियों ने मचाया उत्पात, एक को पटककर मारा, दूसरा गंभीर

तीन दिनों हाथियों के कुचलने से तीन की हुई मौत
चतरा/पत्थलगड़ा। जिले के टंडवा, सिमरिया व पत्थलगडा प्रखंड क्षेत्र में जंगली हांथियों के झुंड ने तीन रात जमकर उत्पात मचाया। बीते रात्रि पत्थलगडा थाना क्षेत्र अंतर्गत मेराल पंचायत में हाथियों ने व्यापक तबाही मचाई। मेराल के खेदवातरी टोला में जंगली हाथियों ने ग्रामीण हरि पूर्ति पिता पांडया पूर्ति 28 वर्ष को पटक-पटक कर मार डाला, वहीं उर्सू मुंडू पिता सुकू मुंडू को भी पटक कर गंभीर रुप से घायल कर दिया। जिसका इलाज हजारीबाग सदर अस्पताल में चल रहा है। रात में ही हाथियों ने जमकर उत्पात मचाते हुए आधा दर्जन घरों को क्षतिग्रस्त करने के साथ आसपास खेत में लगे फसलों को भी नष्ट कर दिया। सूचना मिलते ही रेंजर सूर्य भूषण सिंह, बीडीओ मोनी कुमारी, थाना प्रभारी अविनाश कुमार व एसआई जितेंद्र उरांव घटना स्थल पर पहुंचकर घटना का जायजा लिया। वहीं बीडीओ के पहल पर सरकारी प्रावधान के अनुरुप रेंजर श्री सिंह ने मृतक के आश्रित को 25 हजार व गंभीर रुप से घायल के इलाज के लिए 10 हजार नकद दिया। साथ ही रेंजर ने बताया कि मृतक के परिजनों को 4 लाख व गंभीर रुप से घायल को डेढ़ लाख रुपये आवश्यक कार्रवाई के उपरांत दिए जाने का प्रावधान है। सभी को शेष राशि जल्द दिए जाने की बात पदाधिकारियों ने कही। वहीं पुलिस मृतक के शव को कब्जे में कर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल चतरा भेज दिया। घटना के संबंध में ग्रामीणों ने बताया कि मृतक मेराल बाजार से रात्रि में घर लौट रहा था, तभी रास्ते में हाथियों ने उसे मार डाला। वहीं दुसरी ओर टंडवा के पदमपुर में दो दिन पूर्व एक वृद्धा व एक दिन पूर्व सिमरिया थाना क्षेत्र के कसारी में एक को हाथियों ने कुचलकर मार डाला था। हालांकी लोगों के लिए राहत की बात यह है कि रेंजर श्री सिंह के अनुसार हाथियों का झुंड बड़कागांव के जंगल की तरफ बढ़ गया है।