जामसिंघ में जंगली हाथियों ने मचाया उत्पात, फसलें रौंदी

दुलमी। प्रखंड के जामसिंघ ग्राम स्थित काशी टांड नामक स्थान में शनिवार को जंगली हाथियों ने जमकर उत्पात मचाया। इस दौरान हाथियों ने फसलों को रौंदकर और खाकर नष्ट कर दिया। जिसके कारण ग्रामीणों में दहशत का माहौल कायम हो गया है। जानकारी के मुताबिक जामसिंघ निवासी कुँवर महतो, सूबेदार महतो सहित कई अन्य किसानों के खेतों में लगे करेला मकई,भिंडी, कद्दू,खीरा सहित अन्य दूसरी फसलों को खाकर और रौंदकर बर्बाद कर दिया। इसके बाद जंगली हाथी चटाक ग्राम पहुंचे। यहां भी मकई सहित अन्य फसलों को नष्ट करते हुए वापसी के क्रम में आज अंसारी के घर के बाहर रखें एक फ्रिज को क्षतिग्रस्त कर दिया और जंगल की ओर चले गए। भुक्तभोगी किसानों ने वन विभाग से नष्ट फसलो का मुआवजा देने एवं हाथियों को क्षेत्र से भगाने की मांग की है।
गांव में घुस रहे जंगली हाथी लोगों में दहशत
गुरुवार की रात्रि को जंगली हाथियों का एक दल चटाक ग्राम के रिहायशी इलाकों में घुस गया। जिससे लोगों में दहशत का माहौल है। इस संबंध में ग्रामीण अहद अंसारी कलाम अंसारी अख्तर हुसैन सहित कई लोगों ने कहा है कि जंगली हाथियों को वन विभाग जल्द से जल्द इस क्षेत्र से नहीं भगाती है तो आने वाले समय में कोई बड़ी दुर्घटना हो सकती है। गांव के रिहायशी इलाकों में हाथियों के घुसने से ग्रामीणों में दहशत है। ग्रामीणों ने जंगली हाथियों से सुरक्षा देने एवं टॉर्च पटाखे उपलब्ध कराने की मांग की है।