जंगली हाथियों का कहर, तीन घरों को किया जमींदोज

बोकारो से जय सिन्हा
बोकारो:  बोकारो जिले के पेटरवार प्रखंड अंतर्गत पतकी पुनर्वास क्षेत्र के मिर्जापुर और नावाडीह गांव में जंगली हाथियों के झुंड ने जमकर तबाही मचायी है। इन जगली हाथियों का झुंड पिछले एक हप्ते से भी ज्यादा समय से इस इलाके में मौजूद है। कल रात हाथियों ने गांव के 5 घरों में उत्पात मचाया है जिसमें 3 घरों को तोड़कर पूरी तरह जमींदोज कर दिया है। वहीं घर तोड़ने के बाद हाथियों ने घर में रखे अनाज चावल गेहूं को चट कर गये। घर में रखें बर्तन, पलंग चारपाई, टेलीविजन आदि को तहस नहस कर दिया। ग्रामीणों ने बताया कि हाथियों का झुंड चिग्घाड़ते हुए गांव में पहुंचा था। वहीं धान खाने की कोशिश में घरों को नुकसान पहुंचाते हैं। बताया कि हाथियों की ओर से घरों को तोड़ने की आहट सुनाई देने के बाद घर के ही दूसरे कमरे में छिपने का प्रयास किया।गौरतलब है कि कोह-दिलीबेड़ा के जंगलों से होकर मिर्जापुर गांव में पहुंचे आठ हाथियों के झुंड से ग्रामीण ख़ौफ़ज़दा हैं बीते मंगलवार सुबह को कोह गांव में भी उत्पात मचाया था इन हाथियों के झुंड ने खेत में भिंडी तोड़ने गई महिला की पटककर मौत के घाट उतार दिया था। हाथियों के झुण्ड को तेनुघाट डैम के किनारे बसे बगजोभरा-नवाडीह जंगल में देखा गया है। वन विभाग का हाथी भगाओ दस्ता भी अबतक इन जंगली हाथियों को खदेड़ पाने में नाकाम ही साबित हुआ है।