विस्थापितों की समस्या निदान को करेंगे चरणबद्ध कार्यक्रम, समाधान नहीं निकला तो करेंगे आमरण अनशन : विधायक अकेला

बरही विधायक डीवीसी से विस्थापितों बीच किया बैठक

बरही से बिपिन बिहारी पाण्डेय

बरही (हजारीबाग) : बरही प्रखंड मुख्यालय के सभागार में बरही विधायक सह निवेदन समिति के सभापति उमाशंकर अकेला ने डीवीसी विस्थापित संघर्ष समिति पंचमाधो व विस्थापित ग्रामीणों के बीच बैठक किया। बैठक की अध्यक्षता विधायक उमाशंकर अकेला व संचालन समिति के संयोजक रघुनन्दन गोप एवं विधायक प्रतिनिधि विनोद यादव ने किया। मौके पर पंचमाधो के विस्थापित ग्रामीणों ने बताया कि डीवीसी तिलैया डैम पावर प्लांट प्रोजेक्ट को लेकर 1953-54 में भूमि अधिग्रहण को लेकर बरही के ग्राम पड़रिमा व कोलंगा में रैयतों की रैयती जमीन तिलैया जलाशय को ली गई। उसके एवज में सरकार ने ग्राम बसरिया, कोलंगा, लाक्षुडिह, हरला, गाजो, चचरो का जमीन अधिग्रहण कर डीवीसी को सौंप दिया था। डीवीसी द्वारा अपना भूमि पट्टा व नक्शा बनाकर रैयतों को उपरोक्त मौजा पर पुर्नवास करवा दिया गया है, किंतु उन्हें जमीन का मालिकाना हक अब तक नहीं दिया गया। जबकि सरकार द्वारा प्रत्येक अंचल को लिखित आदेश दिया गया है कि झारखंड में विस्थापित रैयतों को पुर्नवास कर भूमि स्वामित्व दिया जाए, परंतु आज तक उक्त डीवीसी द्वारा विस्थापित रैयतों को भूमि स्वामित्व पत्र नहीं दिया जा रहा है। वहीं कहा कि मंगलवार को बरही सीओ समिति के लोगों को बुलाये थे, किंतु सीओ ने विभागीय कार्य की व्यस्तता बतलाते हुए बैठक में शामिल नहीं हुए। वहीं बैठक में विधायक उमाशंकर अकेला यादव ने संबोधन में कहा कि विस्थापितों की समस्याओं को लेकर कई बार हमने विधानसभा में आवाज उठाई है। एक बार फिर से मैं समिति के प्रतिनिधि मंडल साथ संबंधित विभागों के पदाधिकारियों से बात करूंगा। अगर बात बनी तो ठीक है, नहीं तो बरही में चरणबद्ध आंदोलन शुरू किया जाएगा। चरणबद्ध आंदोलन तहत धरना प्रदर्शन करेंगे। उसके बाद भी समस्या का निदान नहीं हुआ तो बरही में वे आमरण अनशन पर बैठेंगे। वहीं विस्थापितों को भरोसा दिया कि जब तक आपकी समस्याओं का समाधान नहीं निकलेगा तब तक वे चैन से नहीं रहेंगे। विधायक प्रतिनिधि विनोद यादव ने कहा कि विधायक उमाशंकर अकेला ने विधानसभा में विस्थापितों की बात कई बार रखा है और आगे भी रखेंगे। बैठक में उपस्थित मुखिया हरेंद्र गोप ने भी ग्रामीणों की मांग का समर्थन किया। बैठक में मौके पर कांग्रेस नेता गाजो यादव, छठु गोप, अब्दुल मन्नान वारसी, मनोहर यादव, मुखिया हरेंद्र गोप, मो. रुस्तम, अमित जयसवाल उर्फ बिट्टू, डीवीसी विस्थापित संघर्ष समिति पंचमाधो के संयोजक रघुनंदन गोप, अध्यक्ष छोटन गोप, सचिव वीरेंद्र यादव, वीरेंद्र सिंह
सिद्धेश्वर यादव, धीरेंद्र कुमार, बीरबल कुमार, अरविंद कुमार शर्मा, कपिल देव शर्मा, धर्मेंद्र यादव, सतीश कुमार यादव, दीनानाथ कुमार, अरुण कुमार, मनोज कुमार, गोविंद राणा, मनोज राणा, गणेश राणा, रामसेवक कुमार, विजय कुमार राणा, प्रमोद यादव, नरेश कुमार यादव, लालधारी महतो आदि भारी संख्या में पंचमाधो के विस्थापित ग्रामीण उपस्थित थे।