क्रिसमस त्योहार मनाने की सभी तैयारी पूरी, दूधिया रोशनी से जगमगाया गिरजाघर

मिहिजाम से मिथिलेश निराला की रिपोर्ट

मिहिजाम: प्रभु यीशु की जयंती को मनाये जाने को लेकर मिहिजाम सहित रेल नगरी चितरंजन के सभी गिरजा घरों को आकर्षक रूप से सजा कर पूरी तरह से तैयार कर दिया गया है। जहां शुक्रवार को प्रभु यीशु की जयंती मनाया जाएगा। इस बाबत संत जोसेफ चर्च के फादर आरुल दास ने क्रिसमस की पूर्व संध्या पर प्रभु यीशु के जीवनी पर प्रकाश डालते हुए बताया कि प्रभु यीशु का जन्म गरीबी में हुआ था। इसलिएचर्च परिसर में चरणी ( गौशाला ) बनाया गया है। सारी दुनिया की खुशी एवं शांति के लिए प्रभु यीशु का जन्म दिवस धूमधाम से मनाया जाएगा। उन्होंने बताया कि आध्यात्मिक तरीके से भी आज क्रिसमस की पूर्व संध्या पर गिरजाघर में कार्यक्रम आयोजित किया गया है। जिसमें संध्या 7:00 बजे से क्रिसमस कैरल कार्यक्रम आयोजित किया गया है।जिसमें क्रिस समुदाय के लोग हिस्सा लेंगे। साथ ही रात्रि के 8 से 9 बजे के बीच ‘मिस्सा बलिदान” कार्यक्रम का भी आयोजन होगा। उन्होंने बताया कि कोरोना काल को ध्यान में रखते हुए मध्य रात्रि में आयोजित होने वाला कार्यक्रम को इस बार रद्द कर दिया गया है।25 दिसंबर प्रातः8 से 9 बजे के बीच विशेष एवं प्रार्थना सभा आयोजित कर प्रभु यीशु को याद किया जाएगा। जिसमें इस समुदाय के लोग गिरजा घरो में पहुंच कर विशेष प्रार्थना में हिस्सा लेंगे। उन्होंने कहा कि इस दौरान कोविड-19 को भी ध्यान में रखते हुए सोशल डिस्टेंस का पूरी तरह से पालन किया जाएगा। वहीं इस त्योहार को मनाने के लिए मिहिजाम शहर के बदुलीगड़ चर्च, नार्थ चर्च, सिमजोड़ी चर्च को विद्युत के रंग बिरंगे रोशनी से सजाया गया है। जहां 25 दिसंबर को प्रभु यीशु की जन्म दिवस को धूमधाम के साथ मनाया जाना है।