इलाज के दौरान युवक की मौत

मेहरमा : सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, मेहरमा में बीते 6 जुलाई से इलाजरत बडा़ भानु हांसदा की रविवार को मौत हो गई। मृतक को लावारिस स्थिति में इलाज के लिए भर्ती किया गया था।
बताया जाता है कि मेहरमा पुलिस ने गश्ती के दौरान डोय गांव के पास सड़क किनारे घायल अवस्था में पड़े युवक को इलाज के लिए 6 जुलाई को भर्ती कराया था। पीडित युवक कुछ भी बोलने में असमर्थ था। अस्पताल में इलाजरत रहने के बावजूद खाना भी नहीं खाता था, जिसके कारण काफी कमजोर हो गया था। इलाज के दौरान रविवार को उसकी मौत हो गई।
मृतक युवक की पत्नी पक्कू मुर्मू ने स्थानीय बोआरीजोर थाना में 4 जुलाई को एक लिखित आवेदन देकर पति की गुमशुदगी का मामला दर्ज कराई थी।
आवेदन में उन्होंने लिखा था कि गोड्डा से बस पर सवार होकर पति एवं परिवार के साथ अपना घर आ रहे थे। ललमटिया तक की यात्रा करने के लिए टिकट लिए थे। जब बस पहुंची तो हम लोग वहां उतर गए, लेकिन उनका पति उस बस से नहीं उतर पाया। काफी खोजबीन किया, कोई पता नहीं चला। थाने में गुमशुदगी का मामला दर्ज कर पति को खोजबीन करने की गुहार लगाई थी।
लेकिन रविवार को इलाज के दौरान उनके पति का मेहरमा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में मौत हो गई। मौत की सूचना पुलिस को दी गई। सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया है। मामले की जांच की जा रही है। मृतक बडा़ भानू हांसदा बोआरीजोर थाना क्षेत्र के जामुझरना बालझोर गांव का रहने वाला था।