ट्रेन से कटकर युवक की मौत, विरोध में ग्रामीणों ने किया रेलवे लाइन जाम

– दो घंटे बाद जाम किया गया समाप्त
– मृतक के दाह संस्कार के लिए तत्काल दिया गया 20 हजार रुपये, और दो लाख देने का दिया गया आश्वासन

गोड्डा से अभय पलिवार की रिपोर्ट
गोड्डा : गोड्डा- दुमका रेल लाइन पर कुरमन गांव के समीप बुधवार की रात रेल से कटकर एक युवक की मौत हो गई। मृतक अमित कुमार सिन्हा हरदेव कंस्ट्रक्शन कंपनी में नाइट गार्ड का काम करता था। इस घटना के विरोध में परिजनों एवं ग्रामीणों ने गुरुवार को कुरमन गांव के समीप रेलवे लाइन जाम कर दिया। ग्रामीण मुआवजा की मांग कर रहे थे। कंपनी की ओर से मृतक के दाह संस्कार के लिए तत्काल 20 हजार रुपए दिया गया। साथ ही और दो लाख रुपए मुआवजा देने का आश्वासन दिया गया। इसके बाद जाम समाप्त किया गया।
बुधवार की रात गोड्डा से दुमका जा रही रेल की चपेट में आकर कुरमन गांव निवासी अमित कुमार सिन्हा (35) का दोनों पैर एवं एक हाथ पूरी तरह कट गया था। बताया जाता है कि जिस वक्त घटना घटी, उस समय शराब के नशे में धुत अमित रेलवे लाइन के किनारे बैठा हुआ था। घटना की सूचना मिलते ही रेल पुलिस और नगर थाना की पुलिस घटनास्थल पर पहुंची। 108 नंबर पर कॉल करके एंबुलेंस मंगवाया गया और बुरी तरह घायल अमित को अस्पताल के लिए सदर अस्पताल गोड्डा भेजा गया। यहां प्राथमिक उपचार के बाद बेहतर इलाज के लिए उसे भागलपुर रेफर कर दिया गया। भागलपुर ले जाने के क्रम में रास्ते में ही उसकी मौत हो गई।
मौत से आक्रोशित ग्रामीणों ने गुरुवार को दोपहर करीब 12 बजे कुरमन गांव के समीप रेलवे लाइन पर लाश रखकर जाम कर दिया। ग्रामीणों का कहना था कि जब तक मुआवजा नहीं दिया जाएगा, तब तक लाश का दाह संस्कार नहीं किया जाएगा। ग्रामीणों का कहना था कि मृतक काफी गरीब था। रहने का घर नहीं था। पिता भी दिव्यांग है। मृतक पर ही पत्नी एवं दो बच्चों समेत पूरे परिवार के भरण-पोषण की जिम्मेवारी थी। पुलिस द्वारा काफी समझाने बुझाने एवं हरदेव कंस्ट्रक्शन कंपनी की ओर से तत्काल 20 हजार रुपए मुआवजा देने के अलावे और दो लाख दिए जाने का आश्वासन मिलने पर करीब दो घंटे बाद रेलवे लाइन को जाम मुक्त किया गया।