आखिर क्यों एमपीडल्ब्यू स्वास्थ्यकर्मियों के साथ किया जा रहा सौतेला व्यवहार: कार्तिक उरांव

तीसरे दिन भी जारी रहा स्वास्थ्य कर्मियों का आंदोलन
रांची: झांरखण्ड एमपीडब्ल्यू कर्मचारी संघ के आह्वाहन पर राज्य के सभी जिला इकाइयों में एमपीडब्ल्यू कर्मचारी संघ के द्वारा आज तीसरे दिन भी से चरणबद्ध आंदोलन के तहत काला बिल्ला लगाकर कार्य करते हुए सरकार और विभाग का विरोध कर रहे है । प्रदेश महासिचव कार्तिक उरांव ने बतलाया कि सभी जिलों के एमपीडब्ल्यू स्वास्थ्य कर्मी काला बिल्ला लगाकर कार्य कर रहे है और कोरोना पीड़ितों की सेवा के साथ साथ विभाग का हरेक कार्यो मे अपना दायित्व निभा रहे है । कार्तिक उरांव ने यह भी बतलाया कि आज 5 सालों से स्वास्थ्य विभाग मे सिर्फ एमपीडब्ल्यू स्वास्थ्य कर्मियों का किसी भी प्रकार का वेतन नही बढ़ा है जबकि और सभी कर्मीयो का हरेक वर्ष वेतन मे वृद्धि किया जाता है , आखिर अपने राज्य कर्मी एमपीडब्ल्यू स्वास्थ्य कर्मियों के साथ इस तरह का सौतेला व्यवहार क्योँ किया जा रहा है जबकि एमपीडब्ल्यू स्वास्थ्य विभाग मे एक ऐसा कर्मचारी है जो विभाग के किसी भी कार्यो को करने की क्षमता रखता है और विभाग में अनेकों कार्य आज 13 सालों से करते आ रहा है । 13 सालों से लगातार विभाग मे अपनी सेवा देने के कारण आज सभी कर्मी सीधे विभाग में समायोजन करने की मांग कर रहे । प्रदेश महासचिव ने यह भी बतलाया कि कोरोना जैसी महामारी एमपीडब्ल्यू स्वास्थ्य कर्मी पहके पायदान पर रहकर कार्य कर रहा है । संघ के द्वारा सरकार और विभाग से सीधे विभाग मे समायोजन की मांग की गई है और समायोजन होने तक अविलंभ वेतन मे वृद्धि करने की मांग किये हुए है । कार्तिक उरांव ने यह भी बतलाया की कुछ एमपीडब्ल्यू तो समय से पहले भगवान को प्यारे हो गए जिन्हें न तो विभाग के द्वारा और न ही सरकार के द्वारा किसी प्रकार की मदद दी गई । माननिये स्वास्थ्य मंत्री और विभागीय सचिव से अविलंभ इस पर करवाई करने हेतु संघ के द्वारा आग्रह किया गया है । अगर हमारी मांगो पर विचार नही किया जाता है तो चरणबद्ध आंदोलन सभी जिलों मे कार्य करते हुए जारी रहेगा । प्रदेश महासचिव ने यह भी बतलाया किं जब तक तक हमारी मांगे पूरी नही होती है तब तक यह आंदोलन जारी रहेगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *