ऑटो ड्राइवर की एक दिवसीय बैठक हुई संपन्न

इचाक से कुलदीप कुमार की रिपोर्ट

इचाक : ऑटो ड्राइवर की एक दिवसीय बैठक की गई। जिसकी अध्यक्षता जे. एम. एम नेता नीमू मेहता ने की। बैठक मे भाड़ा को लेकर चर्चा किया गया। नीमू मेहता ने बताया की लॉकडाउन के समय सरकार के आदेश अनुसार ऑटो गाड़ी में 50 प्रतिशत लोगों को एक जगह से दूसरी जगह आने जाने का इजाजत दिया गया था। उस समय का किराया 30 रुपया की गयी थी। लेकिन अब ऑटो ड्राइवर के साथ मीटिंग कर किराया पर चर्चा किया गया। जिसमें तमाम ऑटो ड्राइवरों ने भाड़ा को लेकर रणनीति बनाई। पहले के किराया इचाक से हज़ारीबाग ₹30 से घटाकर विद्यार्थियों को ₹20 और तमाम लोगों को ₹25 देने की बात कही गई। वैसे लोग जो अत्यंत गरीब हो और किराया देने में असमर्थ हो उन लोगों से जबरदस्ती किराया नहीं मांगने की भी बात की गई। नीमू मेहता ने इचाक पुलिस प्रशासन को अनियमितता बरतने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि बाजार में सैकड़ों गाड़ी जो रोड पर लगाकर छोड़ दिया जाता है.जिनसे दूसरे लोगों का आवाजाही में समस्या आती है। इस पर काबू पाने में इचाक थाना फ़ैल है। बैठक में शामिल ऑटो ड्राइवर प्रदीप मेहता,अमित केसरी, प्रमोद मेहता, शंकर मेहता, प्रभु मेहता, पगली मेहता, छोटन पासवान, तुलसी पासवान, छोटन पासवान, संजय राम, शंकर भगत,चुन्नीलाल राम आदि लोग मौजूद थे।