हेमंत सरकार के खिलाफ भाजपा ने प्रखंड विकास पदाधिकारी के द्वारा राज्यपाल के नाम सौंपा ज्ञापन

रामगोपाल जेना
चक्रधरपुर: भाजपा के कार्यकर्ताओं ने नगर एवं प्रखंड अध्यक्ष राजेश गुप्ता, हरिस मुंडा एवं रोहित प्रधान की अध्यक्षता में हेमंत सोरेन सरकार के कार्यप्रणाली एवं वादाखिलाफी का आरोप लगते हुए प्रखंड विकास पदाधिकारी चक्रधरपुर के द्वारा राज्यपाल के नाम सौंपा ज्ञापन। कार्यक्रम के प्रभारी के रूप में उपस्थित हैं सिमडेगा के प्रभारी एवं प्रदेश कार्यसमिति सदस्य शैलेंद्र सिंह ने हेमंत सरकार पर सवाल उठाते हुए कहा की आज राज्य की विधि व्यवस्था चरमरा गई है। आम और खास कोई भी सुरक्षित नहीं है। व्यवसायी, पत्रकार, चिकित्सक, अधिवक्ता न्यायाधीश की हत्याएं हो रही महिला उत्पीडन, बहन-बेटियों के साथ आये दिन बलात्कार की घटनाएं हो रही परिजन बहन-बेटियों को घर से बाहर भेजने में डरने लगे हैं। सत्ता के संरक्षण में राज्य की खनिज संपदा की लूट मची है। युवाओं बेरोजगारों की दशा दयनीय है। राज्य की युवा शक्ति सरकार की वादा खिलाफी से हताश और निराश है। युवाओ, बेरोजगारों में राज्य सरकार के खिलाफ भारी आक्रोश है। सरकार की नियोजन नीति के
खिलाफ बेरोजगार आन्दोलन करने को मजबूर हैं यह सरकार नौकरी देने में नहीं बल्कि छिनने में विश्वास करती है। कोरोना काल में राज्य सरकार की विफलता ने सरकार की नीति और नियत को उजागर किया है। आज गरीब भूख से मरने को विवश है। सरकार की पुलिस बेगुनाहों पर जुर्म कर रही, साथ ही सरकार के खिलाफ आवाज उठाने वालों पर ठंडे बरसाए जा रहे किसानों को उनके धान की कीमत नहीं मिल रही। महोदय, ऐसे हालात में भाजपा राज्य की दुर्दशा को चुपचाप नहीं देख सकती। कोरोना काल में सोशल मीडिया के माध्यम से पार्टी ने सरकार की कमियों को उजागर किया है। परंतु राज्य सरकार की लापरवाही, निरंकुशता और जनविरोधी फैसले बढ़ते जा रहे यह सरकार पूरी तरह से विकास विरोधी, आदिवासी, दलित, महिला, युवा विरोधी सरकार साबित हुई है। पार्टी राज्य के वर्तमान हालात पर सड़क पर उतरने को मजबूर।

इस दौरान जिला मीडिया प्रभारी संजय मिश्रा, चाईबासा नगर प्रभारी शेष नारायण लाल, संजय पासवान, रवि बांकिरा, शामरेश सिंह, परमेन्द्र चौहान, गौतम रवानी, बुलटन रवानी के साथ भाजपा के कई कार्यकर्ता मौजूद थे।