विशेष टीकाकरण को लेकर डीसी ने की वर्चुअल मीटिंग

गुमला: वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के बढ़ते प्रसार के नियंत्रण एवं रोकथाम के मद्देनजर गुमला जिला में विगत 04 से 06 जून तक प्रथम चरण कोविड-19 विशेष टीकाकरण अभियान का उपायुक्त शिशिर कुमार सिन्हा ने वर्चूवल मीटिंग कर अब तक प्राप्त किए गए लक्ष्य का प्रखण्डवार समीक्षा की। साथ ही आज की बैठक में 11 जून से 13 जून तक द्वितीय चरण के विशेष टीकाकरण अभियान के लिए माईक्रो प्लान के आधार पर टीकाकरण के लिए संबंधित पदाधिकारियों को हर हाल में निर्धारित लक्ष्य पूरा करने का निर्देश दिया।
वर्चूवल मीटिंग के दौरान उपायुक्त ने बताया कि प्रथम चरण में प्रतिदिन सभी प्रखण्डों को उनके पंचायतों के हिसाब से 40 लोगों का टीकाकरण का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। उन्होंने बताया कि जिला में विगत 04 जून से निर्धारित लक्ष्य 38160 के विरूद्ध 19917 लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है। प्रखण्डवार समीक्षा के क्रम में पाया गया कि विशेष टीकाकरण अभियान के दौरान कामडारा प्रखण्ड में प्राप्त लक्ष्य के विरूद्ध सर्वाधिक 91 प्रतिशत टीकाकरण किया गया है। वही रायडीह प्रखण्ड में लक्ष्य के विरूद्ध 70 प्रतिशत लोगों का टीकाकरण किया गया है। भरनो, बिशुनपुर, घाघरा, पालकोट व सिसई प्रखण्ड में विशेष टीकाकरण अभियान के दौरान निर्धारित लक्ष्य के अनुरूप प्रगति अपेक्षाकृत नहीं पायी गयी। इन प्रखण्डों में निर्धारित लक्ष्य के विरूद्ध मात्र 43 प्रतिशत लोगों का टीकाकरण हो पाया है। जिस पर उपायुक्त ने संबंधित प्रखण्ड के प्रखण्ड विकास पदाधिकारियों को अधिक से अधिक लोगांे का टीकाकरण कराने का निर्देश दिया। उपायुक्त ने विशेष साप्ताहांत गहण टीकाकरण अभियान के प्रथम चरण में पिछड़ने वाले प्रखण्डों से द्वितीय चरण अंतर्गत अधिक से अधिक टीकाकरण सुनिश्चित करने हेतु कार्य योजना बनाने पर जोर दिया। उन्होंने निर्धारित लक्ष्य की प्राप्ति के लिए जिला शिक्षा पदाधिकारी एवं डीपीएम जेएसएलपीएस को इन प्रखण्डों में स्वयं सहायता समूह, पीडीएस डीलर व शिक्षकों की सहयोग से लोगों को जागरूक करते हुए टीकाकरण के लक्ष्य को प्राप्त करने हेतु निदेशित करने की बात कही। उपायुक्त ने जेएसएलपीएस के स्वयं सहायता समूह की लगभग 11 हजार क्रेडिट लिंकेज से जुड़ी दीदीओं को अधिक से अधिक टीकाकरण दिलवाने का निर्देश डीपीएम जेएसएलपीएस को दिया। वही उन्होंने हाट-बाजारों मंे भी विशेष रूप से टीकाकरण सुनिश्चित करने पर जोर दिया। उन्होंने हाट बाजार आने वाले लोगांे को भी चिन्हित कर निकटवर्ती टीका केन्द्र मंे टीकाकरण सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। उपायुक्त ने जिला आपूर्ति पदाधिकारी को अगले तीन दिन के अभियान के दौरान जहाँ खाद्यान्न का वितरण नहीं हो पाया है वहाँ खाद्यान्न के वितरण के साथ-साथ राशन कार्डधारियों में से योग्य लाभुकों का भी टीकाकरण सुनिश्चित करने का निर्देश दिया।
उपायुक्त ने सिविल सर्जन को एमओआईसी को गाँवों में टीकाकरण हेतु वैक्सीनेशन टीम को समय पर भेजने का निर्देश दिया। वैक्सीनेशन के साथ ही उन्होंने सर्दी, खांसी, बुखार अथवा कोरोना के लक्षण वाले व्यक्तियों का कोविड जाँच सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। उपायुक्त ने अमृत वाहिनी पोर्टल पर सर्वेक्षित डाटा को अविलंब अपलोड करने का निर्देश दिया। इसके साथ ही उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को त्रिदिवसीय टीकाकरण अभियान के दौरान टीकाकृत व्यक्तियों का डेटा समय पर पोर्टल पर अद्यतन करने का निर्देश दिया। उपायुक्त ने वैसे लाभुकों जिनका द्वितीय डोज की निर्धारित अवधि पूरी हो गई है, उनकी प्रखण्डों में उपलब्ध सूची से मिलान कर द्वितीय डोज दिलाने का निर्देश दिया। साथ ही उन्होंने एएनएम एवं सहियाओं के माध्यम से ऐसे पंजीकृत लाभार्थियों को द्वितीय डोज लेने हेतु सूचित करने का भी निर्देश दिया। बैठक में उपायुक्त ने बताया कि शिक्षा विभाग के 7359 शिक्षक/पारा शिक्षक/रसोईया आदि में से 4151 ने प्रथम तथा द्वितीय डोज नहीं लिया है। उन्होंने त्रिदिवसीय अभियान के दौरान छूटे हुए सभी शिक्षा कर्मियों को टीका लगवाने का निर्देश दिया। वीसी के क्रम में जिला शिक्षा पदाधिकारी सह जिला शिक्षा अधीक्षक ने बताया कि विभागीय स्तर पर टीका नहीं लेने वाले शिक्षकों का वेतन भुगतान भी स्थगित रखने का निर्देश दिया गया है।
उपायुक्त ने समीक्षा के दौरान सुदूरवर्ती गाँवों में मोबाईल वैन की उपयोगिता पर भी विशेष जोर दिया। साथ ही हाई रिस्क गु्रप के लिए कार्य योजना बनाकर कार्य करने को कहा। उपायुक्त ने भ्रांतियों पर अंकुश लगाने एवं कोविड-19 संक्रमण दर पता लगाने के लिए अधिक से अधिक संख्या में कोविड जाँच सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। इसके लिए उपायुक्त ने टीकाकरण टीम को आरटीपीसीआर के साथ पंचायतों में जाकर कोविड जाँच भी सुनिश्चत करने का निर्देश दिया है। बैंकों में आने वाले लाभुकों का टीकाकरण की जाँच करने तथा जो लाभार्थी टीका नहीं लिए है, उन्हें भी टीकाकरण के लिए उत्प्रेरित करने का निर्देश दिया।
बैठक के दौरान उपस्थिति
बैठक में उपायुक्त, उप विकास आयुक्त, परियोजना निदेशक आईटीडीए, अपर समाहत्र्ता, जिला शिक्षा पदाधिकारी सह जिला शिक्षा अधीक्षक, जिला पशुपालन पदाधिकारी, जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी, जिला आपूर्ति पदाधिकारी, भूमि सुधार उपसमाहत्र्ता, जिला पंचायती राज पदाधिकारी, अनुमण्डल पदाधिकारी गुमला/बसिया/चैनपुर, जिला नजारत उपसमाहत्र्ता, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी, जिला कृषि पदाधिकारी, सभी प्रखण्डों के प्रखण्ड विकास पदाधिकारी/अंचल अधिकारी, डीपीएम जेएसएलपीएस व अन्य मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *