जिला स्तरीय कोविड टास्क फोर्स की बैठक संपन्न

बैठक में कोविड-19 टीकाकरण, रैट जाँच अभियान, कोविड-19 के तीसरे लहर की तैयारी एवं राष्ट्रीय कृमि मुक्ति कार्यक्रम संबंधित विषयों की समीक्षा की गई

गुमला : उपायुक्त शिशिर कुमार सिन्हा की अध्यक्षता में जिलास्तरीय कोविड टास्क फोर्स की बैठक आईटीडीए भवन के सभागार में की गई। बैठक में मुख्य रूप से कोविड-19 टीकाकरण, रैट जाँच अभियान, कोविड-19 के तीसरे लहर की तैयारी तथा राष्ट्रीय कृमि मुक्ति कार्यक्रम संबंधित विषयों पर समीक्षा की गई।

बैठक में उपायुक्त ने गुमला जिलांतर्गत 17 अगस्त 2021 तक स्वास्थ्य कर्मियों, फ्रंटलाइन कर्मियों, 45 से 59 आयुवर्ग के लोगों, 60 प्लस लाभुक तथा 18 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के युवा लाभुकों के टीकाकरण की अद्यतन स्थिति की समीक्षा की। समीक्षा के क्रम में पाया गया कि 7789 स्वास्थ्य कर्मियों को प्रथम डोज तथा 7223 को द्वितीय डोज, 7475 फ्रंटलाइन कर्मियों को प्रथम डोज तथा 5161 को द्वितीय डोज, 45 से 59 वर्ष के 76656 लाभुकों को प्रथम डोज तथा 21698 को द्वितीय डोज, 60 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के 60499 लाभुकों के प्रथम डोज व 20632 को द्वितीय डोज एवं 18 वर्ष से अधिक आयुवर्ग के 130607 लाभुकों को प्रथम तथा 9499 को टीकाकरण का द्वितीय डोज लगाया गया। इसपर उपायुक्त ने 45 से 59 वर्ष के लाभुकों, 60 प्लस एवं 18 प्लस के लाभुकों के टीकाकरण दर में वृद्धि करने पर विशेष जोर दिया। उन्होंने इस दिशा में जिला समाज कल्याण पदाधिकारी एवं डीपीएम जेएसएलपीएस को आंगनबाड़ी सेविका/ सहायिका के माध्यम से अधिकाधिक लोगों को टीकाकरण हेतु प्रेरित करने का निर्देश दिया। साथ ही उन्होंने अधिकाधिक टीकाकरण सुनिश्चित करने की दिशा में जिलातंर्गत टीकाकरण बूथों की संख्या को बढ़ाने एवं आवश्यकतानुसार मोबाइल टीकाकरण टीम के भी सक्रिय करने का निर्देश स्वास्थ्य विभाग को दिया। समय पर टीकाकरण सुनिश्चित करने हेतु एएनएम को समय पर टीकाकरण केंद्रों पर उपस्थित रहने का निर्देश दिया गया।

उपायुक्त ने बताया कि पालकोट, भरनो एवं सिसई प्रखंडों में टीकाकरण की स्थिति संतोषजनक नहीं हैं, अतः उन्होंने जिला युवा पदाधिकारी नेहरू युवा केंद्र को संबधित प्रखंड विकास पदाधिकारियों एवं प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों के साथ समन्वय स्थापित करते हुए अपने वॉलनटीयर्स को भी टीकाकरण के कार्य में संलग्न करने का निर्देश दिया।

बैठक में 01 अगस्त से 17 अगस्त 2021 तक आरटीपीसीआर, ट्रूनेट तथा रैपिड टेस्ट के माध्यम से एकत्रित किए गए सैम्पलों की जानकारी प्राप्त की। स्वास्थ्य विभाग द्वारा बताया गया कि आरटीपीसीआर के माध्यम से 10570, ट्रूनेट के माध्यम से 2243 तथा रैपिड ऐन्टिजेन टेस्ट किट के माध्यम से 15915 सैम्पल एकत्रित किए गए। वर्तमान में रैपिड टेस्ट हेतु 2157 वायल उपलब्ध हैं। शाम तक और 20000 वायल प्राप्त करने की जानकारी दी गई। इसपर उपायुक्त ने वायल प्राप्त होने के पश्चात् सप्ताह में दो दिन विशेष रैपिड ऐन्टिजेन टेस्ट ड्राइव चलाने पर जोर दिया।

कोविड-19 के संभावित तीसरे लहर के मद्देनजर की जाने वाली चिकित्सीय तैयारियों की समीक्षा की गई। उपायुक्त ने जिलांतर्गत कोविड केयर सेंटरों एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में कोरोना संक्रमण से प्रभावित मरीजों के उच्चतम ईलाज हेतु ऑक्सिजन युक्त बेड, सामान्य बेड, कंसन्ट्रेटर युक्त बेड, पाईपलाइन से जुड़े बेडों की जानकारी प्राप्त की। बताया गया कि 200 सामान्य बेड, 75 ऑक्सिजन सिलिंडर युक्त बेड, 317 कंसन्ट्रेटर से संचालित बेड तथा 110 पाईपलाइन से संचालित बेड, कुल 502 बेड की व्यवस्था की गई है।

बैठक में राष्ट्रीय कृमि मुक्ति कार्यक्रम 2021 के आयोजन के संबध में विचार-विमर्श किया गया। बताया गया कि आगामी 20 से 30 अगस्त 2021 तक जिले में राष्ट्रीय कृमि मुक्ति कार्यक्रम का आयोजन कर 01 से 19 वर्ष के सभी बच्चों को सहिया के द्वारा गृह-भ्रमण कर एलबेंडाजोल द्वा की खुराक दिलाई जाएगी। इस संबंध में उपायुक्त ने आंगनबाड़ी सेविका/ सहायिकाओं के माध्यम से उक्त कार्यक्रम का व्यापक प्रचार-प्रसार सुनिश्चित करने का निर्देश दिया। स्वास्थ्य विभाग द्वारा बताया गया कि कार्यक्रम के सफल क्रियान्वयन हेतु माईक्रोप्लान तैयार कर लिया गया है तथा सहिया द्वारा अपने-अपने कार्यक्षेत्रांतर्गत बच्चों की सूची भी तैयार कर ली गई है। इसपर उपायुक्त ने तैयार किए गए सूची को उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। उन्होंने आमजनों को राष्ट्रीय कृमि मुक्ति कार्यक्रम के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से जिलास्तर/ प्रखंडस्तर एवं पंचायत स्तर पर इसका व्यापक प्रचार-प्रसार सुनिश्चित करने का निर्देश दिया तथा जागरूकता रथ के माध्यम से भी लोगों को जागरूक करने पर जोर दिया।

उपस्थिति
जिलास्तरीय कोविड टास्क फोर्स की बैठक में उपायुक्त शिशिर कुमार सिन्हा, सिविल सर्जन डॉ.राजू कच्छप, उप विकास आयुक्त संजय बिहारी अंबष्ठ, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी देवेंद्रनाथ भादुड़ी, डॉ. नागभूषण प्रसाद, डब्लूएचओ के एस.एम.ओ डॉ.मृत्युंजय, डीपीएम जेएसएलपीएस मनीषा सांचा, डीपीएम स्वास्थ्य जया रेशमा खाखा, जिला युवा पदाधिकारी नेहरू युवा केंद्र मोना प्रेरणा सुरीन, डीस्ट्रिक्ट प्रोजेक्ट कॉर्डिनेटर यूनिसेफ अपूर्वा सेन, एचटीएफ जिदान प्रियंका ग्रेवाल, सहायक अभियंता सर्वशिक्षा अभियान शमशाद अली व अन्य उपस्थित थे।