जंगल पहाड़ वाले रेमता डैम इलाके में फुटबॉल का क्रेज, जुटे 30 हजार दर्शक

खूंटी: न कोई विज्ञापन न कोई स्पॉन्सर्स, बावजूद खूँटी से 27 किलोमीटर दूर जंगल पहाड़ वाले सुदूरवर्ती पर्यटन स्थल रेमता डैम के समीप रेमता गाँव में टूर्नामेंट का किया गया आयोजन। बगैर विज्ञापन के ही नक्सल प्रभावित इलाके में जुटे 30 हजार से ज्यादा दर्शक और वो भी क्रिकेट के लिए नहीं। जमीन से जुड़े मैच फुटबॉल के लिए। भारी बारिश के बावजूद हजारों की संख्या में जुटी युवक युवतियों, महिला पुरुषों और किशोरों की भीड़ शायद किसी चुनावी सभा की भीड़ से ज्यादा थी। फुटबॉल मैच में रांची, जमशेदपुर, चाईबासा, ओरमांझी, खूंटि समेत कुल आठ टीमों ने हिस्सा लिया।

बता दें कि ओलंपिक में हमारे देश के खिलाड़ियों के बेहतर प्रदर्शन के बाद अब संसाधनों की कमी के बावजूद हर तरह के खेल में खिलाड़ी जमकर अपना पसीना बहा रहे हैं। गांव गांव के ग्रामप्रधान अब खेल और खिलाड़ियों को आगे बढ़ाने और गांव पंचायत से प्रखण्ड और प्रखण्ड से जिला, राज्य, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर परचम लहराने की प्रतियोगिता में बाजी मारना चाहते हैं।

रेमता डैम के समीप गांव में आयोजित इस मैच में हजारों की संख्या में दर्शक उपस्थित थे। जंगल के बीच दर्शकों का आना इतनी अधिक संख्या में भीड़ का यहां आने से ही ऐसा लगता है कि यह खेल कितना मनोरंजक खेल है। इस मैच के दौरान सुदूरवर्ती रेमता गाँव के फुटबॉल मैदान में मैच के दौरान मेला सा नजारा । जहाँ खूँटी और देहाती क्षेत्र के अलावे तीन से चार सौ किलोमीटर दूर से भी खेल प्रेमी दर्शक इस मैदान में मैच देखने पहुँचे हुए थे। मैच में आठ टीमों ने भाग लिया। आदिवासी युवा क्लब रेमता द्वारा आयोजित फुटबॉल टूर्नामेंट में रेमता का खेल प्रतिभा का प्रदर्शन पर बतौर मुख्य अतिथि केंद्रीय जनजातीय कार्य मंत्री सह खूँटी सांसद अर्जुन मुण्डा के आप्त सचिव संजय बासु और विशिष्ट अतिथि जिला सांसद प्रतिनिधि मनोज कुमार ने इस दौरान आयोजन समिति की अगुवाई में खिलाड़ियों से परिचय प्राप्त किया।

फुटबॉल मैच में विजेता को 1लाख रु, उपविजेता टीम को 70 हजार रुपए दिया जाना था लेकिन मौसम खराब होने के कारण फाइनल मैच खेल रही दो टीमों ने समयावधि के भीतर एक-एक गोल कर बराबरी पर रहे इसलिए ओरमांझी की टीम और खूंटी साकेटोली की टीम को संयुक्त विजेता घोषित कर 85-85 हजार की नगद राशि दी गयी। वहीं तीसरे और चौथे स्थान पर रही रीमिक्स फॉल बालू घाट और एनएस ब्रदर्स की टीम को बीस-बीस हजार रुपये आदिवासी युवा समिति रेमता द्वारा दिया गया।

ग्रामीण स्तर पर आयोजित फुटबॉल प्रतियोगिता की जानकारी देते हुए ग्रामप्रधान जयकृष्ण मुण्डा ने बताया कि ग्रामीण खेल प्रतिभाओं को राज्य और राष्ट्रीय स्तर पर पहचान मिले इस ध्येय से फुटबॉल टूर्नामेंट का आयोजन किया गया है।
फुटबॉल मैच में बतौर अतिथि शामिल मनोज कुमार ने बताया कि फुटबॉल मैच कार्यक्रम में खूँटी सांसद व केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा को जनजातीय उत्थान और जागृति के लिए ही दायित्व मिला है और इनके नेतृत्व में खूँटी क्षेत्र में अच्छा विकास कार्य चल रहा है।
इस मैच के एक सफल खेल प्रदर्शन में सुखराम मुण्डा, शेखर मुण्डा, भीम सिंह मुण्डा, फुटबॉल संघ अध्यक्ष पीटर कोनगाड़ी, महासचिव परमानन्द महतो आदि विशेष रुप से उपस्थित थे।