राजनीतिक कारणों से फंसाया गया: नवीन

– मंदिर में हवन करने के आरोप में दर्ज प्राथमिकी पर भाजयुमो के प्रखंड अध्यक्ष ने दी सफाई
मुकेश कुमार की रिपोर्ट
महागामा: कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर झारखंड सरकार द्वारा राज्य में स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह लागू किया गया है। सरकारी ओर से जारी गाइडलाइन में धार्मिक स्थल में श्रद्धालुओं के पहुंचने पर पाबंदी लगाई गई है। पाबंदी के बावजूद भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रखंड अध्यक्ष ने स्थानीय एक मंदिर में हवन कार्यक्रम संपन्न किया। इसको लेकर अंचल अधिकारी द्वारा उनके विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कर दी गई है।
वहीं भाजयुमो के प्रखंड अध्यक्ष नवीन महतो ने अपने खिलाफ दर्ज प्राथमिकी को राजनीति से प्रेरित बताया है। शुक्रवार को श्री महतो ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बताया कि बीते चार मई को उन्होंने जन कल्याण के उद्देश्य से कोविड-19 को देखते हुए शारीरिक दूरी का पालन करते हुए, मास्क पहनकर पांच से छह आदमी को लेकर घर के बगल में हुनमान मंदिर के पास हवन कार्यक्रम किया। कहा कि सबको पता है कि हिंदू धर्म के धार्मिक ग्रंथों में ऋषि-मुनियों के द्वारा बताया गया है कि हवन करने से वातावरण में फैले वायरस का नाश हो जाता है। दूरदर्शन चैनल,समाचार पत्र एवं पत्रिका के माध्यम से लोगों को जानकारी मिली कि हवन करने से छोटे-छोटे कीटाणु नष्ट हो जाते हैं। वातावरण शुद्ध होता है। जनकल्याण लेकर हमने हवन कार्यक्रम मंदिर के पास किया। लेकिन राजनीतिक कारणों से इसे मुद्दा बनाकर उन्हें फंसाया जा रहा है। जबकि उनकी कोई ऐसी कोई मानसिकता नहीं थी कि कोविड-19 को लेकर सरकार के द्वारा जारी दिशा निर्देश का उल्लंघन करें।